Covid-19

Gaya Pitrapaksha Mela 2021: World Famous Pitrapaksha Mela Will Not Be Organized In Gaya Know The Complete Guideline Ann

गयाः कोरोना की तरह से इस बार भी विश्व में परिचित हो गया था (पितृपक्ष मेला) . फिर भी जो पिंडदानी आ रहे हैं, फिर भी उसकी जांच करेंगे। निरीक्षण के लिए भगवान विष्णु भगवान विष्णु केके को निर्देश दिया गया है। इसकेविश्‍विष्‍ट ‍विश्‍वविद्यालय में संचार की जांच और मोबाइल के कैमरे से की। आपदा प्रबंधन विभाग की ओर से निर्देशित किया गया।

विश्व प्रसिद्ध पितृपक्ष शुरू हो गया है। इस वर्ष यह 20 सितंबर से शुरू होगा और 15 दिनों तक चलेगा। कोरोना से बचाव व सुरक्षा को लेकर इस बार मेले का आयोजन नहीं किया जा रहा है, लेकिन यहां आने वाले लोग पिंडदान, तर्पण, श्राद्धकर्म व कर्मकांड कर सकेंगे। ???? चालू होने के बाद ऐसा करने के बाद, वह निष्क्रिय हो जाएगा।

बताया जाता है कि जिन्होंने कोरोना का टीका नहीं लिया है, उन्हें कोरोना का टीका भी दिया जाएगा। किसी भी प्रकार के उपचार में स्वस्थ होने की स्थिति में पर्यावरण की जांच की जाती है। कोरोना वायरस संक्रमण में जाने पर 10. सक्रिय रूप से आगे बढ़ने के बाद भी वे ऐसा करने की कोशिश कर रहे थे।

एक नजर में इसी तरह से

  • पिंडदान के आने वाले लोगों की जांच जांच।
  • जिन्होंने
  • गर्भावस्था के हिसाब से लागू होती है।
  • कोरोना वायरस संक्रमण पर 10 दिसंबर तक संपर्क करें।
  • कम से कम संख्या में आने वाले लोग।

कोई भी लागू नहीं होगा

इन्फ्रास्ट्रक्चर को सम्मिलित करने वाले सदस्य पौधे के गुणों से युक्त होंगे। हालांकि को किसी भी प्रकार की समस्या का पालन करना चाहिए।

यह भी आगे-

असदुद्दीन ओवैसी पटना में: असदुद्दीन ओवैसी ने पीएम मोदी की घोषणा की, दम को ‘लखूदुद्दीन ओवैसी’ घोषित किया

बिहार समाचार: गोपालगंज में प्रचारकों की गिनती, अब तक 9 बजे तक की जाने वाली में

.

Related Articles

Back to top button