Panchaang Puraan

ganga saptami 2022 maa ganga ki aarti lyrics om jai gange mata shree gange mata – Astrology in Hindi

गंगा सप्तमी : हर वैशाख माह के शुक्ल की सप्तमी तिथि को गंगा सप्तमी या गोना जुले का पावन वैलेंटी है। क्रियाकलापों के संगठन इस दिन गंगा भोलेनाथ की जटाओं में सामुदायिक खेल।। इस साल 8 मई, 2022, इस् गोना सप्तमी का पावन छुट्टी जारी। गंगा सप्तमी के पावन दिन गंगा नदी में स्नान का विशेष महत्व है। भारत को खुश करने के लिए इस दिन गंगा की आरती अवश्य करें। आगे आगे माँ गंगा की आरती-

  • मां गंगा की आरती-

जय गंगे माता, श्री गंगे माता।
नर्को ध्यानता, मनवांछित फल जो खोजे।
ॐ जय गांगे माता…

चंद्र-सी ज्योत अविनाशी।
शरणारोहण जो, सोनर तरग्री।
ॐ जय गांगे माता…

15 मई से आरंभ इन राशियों के जीवन, जानें सूर्य के परिवर्तन से प्रभाव-प्रभाव

पुत्र सगर के तारे सब जग को पता।
कृपा दृष्टि दृष्टि, त्रिभुवन सुख दाता।
ॐ जय गांगे माता…

एक ही बार भी जो नीर्ति शरणागति की स्थिति।
यम की त्रे माई कर, परम गति पाता है।
ॐ जय गांगे माता…

आरती मात जोड़ जो जन नित्य गाता।
दास सहज आसानी से मिल जाता है।
ॐ जय गांगे माता…
ॐ जय गंगे माता…..

संबंधित खबरें

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button