Panchaang Puraan

Ganesh Ji Ki Aarti lyrics sakat chauth sankashti chaturthi 2022 aarti jai ganesh jai ganesh deva – Astrology in Hindi

गणेश जी की आरती: सकट चौथ पर विधि- व्यवस्था से गणेश की पूजा- व्यवस्था है। गोस्वामी गणेश भगवान हैं। श्री गणेश की कृपा से सभी मनोभावों में शामिल हैं। सभी विघ्न दूर के लिए गणेश भक्त बप्पा की पूजा-अराणा ही साथ में आरती भी गाते हैं। आज गणपति महाराज को प्रसन्न करने के लिए ये सभी सदस्य जरूर लिखें…

देखें गणेश जी की आरती

जय गणेश, जय गणेश, जय गणेश देवा।
माता जाकी पार्वती, पापा महादेवा।।

एकदंत, दयावन्त, बंध्याचारी,
मैं सिन्दूर सोहे, मौस की आदत।
पानपाना, फूला देवी और देवी मेवा,
लड्डूअन का भोजनालय, सन्त सेवा।। ..
जय गणेश, जय गणेश, जय गणेश, देवा।
माता जाकी पार्वती, पापा महादेवा।।

अंधन को आंख देत, कोढ़िन को काया,
बंझन को पौत्र, निरधन को माया।
‘सूर’ श्यामा शरण, सप कीजे सेवा।।
जय गणेश जय गणेश जय गणेश देवा ..
माता जाकी पार्वती, पापा महादेवा।

दीन की लाज, शंभु सुतकारी।
सुन को पूर्ण करो जय बलिहारी।

.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button