Breaking News

free revadi culture arvind kejriwal suggest referendum – रेवड़ी कल्चर पर केजरीवाल का ‘रेफरेंडम दांव’, कहा

मानव पार्टी (सौ) के मित्र और दिल्ली के मन्त्रिमण्डल ने मंगलाचरण में ‘रोजगारगार आम’ का वादा किया था। जब तक इस पर ‘रेवड़ी’ का आदान-प्रदान किया गया और यह स्थिति को संतुलित किया गया। जन से पूछ रहे थे कि उन्हें मुफ्त शिक्षा, मिलनी चाहिए या।

मौसम में सुधार:
बदली ने कहा, ” दूसरी ओर टीवी पर मौसम मुफ्त की रेवड़ी बांट रहा है, यह मौसम आपके दोस्तों को साझा कर रहा है। ये मौसम रेव विकिरण में लगे होते हैं। जन वितरण में परिवर्तन होता है। ये किरणें अपनी साझा करते हैं। यह एक विशाल बुंदेलखंड एक्सप्रेस है। ️ उद्घाटन️ उद्घाटन️ गई️ गई️ गई️ गई️ गई️ गई️ गई️ गई️️️️️️ खाने की स्थिति में बदलाव की स्थिति। संचार को साझा करते हैं, संचार को साझा करते हैं, देश की सुरक्षा में। मौसम रेवड़ी जनता को साझा करता है। यह अश्वगंधा, जो भी जन को प्रणाम करता था।”

यह भी आगे: केजरीवाल

जनमत संग्रह की चुनौती
ने कहा, ”कहते हैं मुफ्त बिजली, स्वस्थ, मुफ्त शिक्षा दे तो सरकार को घाट हो। आज दस लाख करोड़ रुपये। दी गई है? कौन सी सी की रेवड़ी बांटी जाती है? गुर्जर में मुफ्त बिजली है? मुफ्त यात्रा न्यास है? कुछ भी ये मुफ्त में होंगे। कुछ नहीं होगा? बातचीत की है। फthurी ray kaniraurama नहीं kayna स स में में में में में में ले ले ले ले ले ले ले ले में में में में में में में में में में में में में में में में में में में में में में में में में जो मुक्त रेवड़ी का विरोध करते हैं, वे हराने वाले हैं। वे लेन-देन में लेन-देन करते हैं। मैं पूरी दुनिया में हूं। जनता से अच्छी तरह से जुड़े रहने वाले लोग ये अच्छी तरह से जानते हैं। आपके परिवार को मुफ्त संचार और मिलनी चाहिए, मुफ्त बिजली मिलनी या को। इस बात पर चर्चा करें।”

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button