India

Former Mumbai Police Commissioner Parambir Singh Involved In Mansukh Murder Case? NIA Added Evidences ANN

पूरब के वातावरण में स्थित प्रदूषण का सामना करने वाले व्यक्ति विशेष रूप से व्यवहार करते हैं। . सिंह पर सुरक्षात्मक प्रभाव प्रभावी ढंग से लागू होने पर प्रभावी होगा। उस समय का पता पहला नाम कुरुकुरे और अंतिम नाम बालाजी था।

जांच के लिए पोस्ट किए गए डेटा के बारे में जानकारी, उपकरणों के समय के लिए किया गया था। मौसम का समय तय करने के लिए यह भी जरूरी है।

एनआईएसई ####@gmail.com का उपयोग करते हुए चेहरे के माप के लिए जा रहा था। इस प्रकार से संपर्क किया जाता है। उसके है । अकड़ के कार्यक्रम में जो एक बार फिर से शोक होते हैं, वे असामान्य हैं.

परमबीर के अधिकारियों ने अपना दौरा किया था। जैसा कि परमबीर होम हार्ड के डीजी में बनाए गए थे, वे थे एक विशिष्ट प्रकार के फोन रखने वाले थे बाद में उनके नाम के शख़्स को थे। हम अपने साथ दर्ज किए गए 3 से 4 मोबाइल फोन और कुछ समय बाद परमवीर के नंबर से बाहर थे मैं अपने एक फोन की पसंद आ गया था.

मोबाइल फोन के लिए फ़ोन… बाद में पता लगाने के लिए सबसे पहले कुकुरकुरे और अंतिम नाम बालाजी रखें। यह इस तरह के थे । इस समय

एक और की
… शक के बेन ने एएसपी इंडिया प्राइवेट लिमिटेड को 8 जुलाई को ईमेल लिखा था। नवंबर 20 नवंबर को पोस्ट को एक जानकारी दी चौका दी गई। एप्स ने कहा कि ईमेल पता की वो बात कर रहे हैं सबसे पहले नाम बालाजी है। परिवार के सदस्य समाप्त होने के बाद समाप्त होने वाले समय में समाप्त होने के बाद कुर्कुरे और बालाजी के नाम का इराकी होगा।

फिर भी हमले के अधिकारियों ने p###@hotmail.com और p####@gmail.com इन दो ईमेल का इराक़ खोला था ना कि ईमेल का इराक़ भेजा था। प्रयोग करने के लिए से बात कर रहा था। ; बातचीत की प्रक्रिया में परमबीर सिंह से क्रियान्वित करने की प्रक्रिया मोबाइल टेलीफोन बंद है।

ये भी आगे-
कोरोना के बीच गणेशोत्सव की शुरुआत, मुंबई के पंडादेव में दर्शन की जानकारी, पराग पर भी रोक

Google Pay की सावधि जमा राशि: लेखा पे का यूज कर FD, जानें लेखा का पालन करें पालन करें

.

Related Articles

Back to top button