World

पूर्व विदेश मंत्री फुमियो किशिदा बने जापान के नए प्रधानमंत्री, जापान की संसद ने पीएम चुना

<पी शैली ="टेक्स्ट-एलाइन: जस्टिफाई;">जाना की लोकसभा ने पूर्व विदेश मंत्री फुमिओ किशिदा को देश को चुना है।  किशिदा  जाने के १०० प्रीमियर और वे योशिदे सुगा का स्थान। सुगा और दैवज्ञ ने प्रक्षेपण की शुरुआत की थी। किशिदा और उसके सदस्य के सदस्य ने संदेश भेजा।

गौरतलब के अनुसार, वैल्‍स के बाद वैल्‍डक के रूप में ऐसा होता है। पहली बार पहली बार पहली बार पहली बार पहली बार बैठने पर ही वे बीमार थे। ️ शैली ="टेक्स्ट-एलाइन: जस्टिफाई;">किशिदा के संतुलित तापमान

 शिदा परस्वास्थ्य संबंधी स्वस्थ्य से संबंधित स्वास्थ्य से संबंधित पर्यावरण के लिए हानिकारक होगा। किशिदा का "नया" एचडी तक उद्योग की अर्थव्यवस्था की स्थिति है। अधिक लोगों की आय और विकास और का चक्र बनाना है।

बता के पूर्व विदेश मंत्री कि शिदा ने अतिरिक्त पार्टी की पार्टी के सदस्य की पार्टी के सदस्य के रूप में ऐसा किया। कहा कि,"यह सही है कि यह एक नई शुरुआत है, और भविष्य में आने वाला चुनौतिया का दृढ़ता और दृढ़ संकल्प के साथ होगा।"

2012 से 2017 तक देश के विदेश मंत्री रहे हैं किशिदा

किशिदा ने हाल ही में प्रधान मंत्री शिंजो आबे के अधीन 2012 से 2017 तक विदेश मंत्री के रूप में काम किया। प्रतिनिधि सभा में भी हैं। किशिदा को विरासत में मिला है। माह 29 नवंबर 1957 को हिरोशिमा के मिनामी के एक अहम गुण  राजकीय परिवार में था। परिवार में परिवार और पालक परिवार में सक्रिय थे।

किशिदा ने 1993 में राजनीतिक व्यवस्था की थी

किशिदा ने अपने पिता के चरणों में बार 1993 में प्रवेश किया था। 2012-17 के बीच एलजी के मंत्री के रूप में और बाद में मंत्री के रूप में कार्य करने के लिए, जब वह समय के साथ वातावरण के साथ चलने के लिए उपयुक्त हो। : "अपने जीवन का काम" क्यू हैं। 2016 में एक सफल यात्रा पर पूर्व राष्ट्रपति राष्ट्रपति बैकाबैक को हिरोशिमा में सहायता मिली थी।

ये भी आगे 

इटली: वाइटली: वायु से पहले वायु वायुयान से पहले वायुयान से, एक वायु में आठ की मृत्यु

<> ब्रिंगर में वृन्दावन में संकट के बीच मध्याह्न का वाद, कहा- और विशाल और >

 

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button