India

Foreign Minister S Jaishankar Says Deteriorating Situation Will Not Impact Only Neighbour But It Will Have Far Impact | Jaishankar On Afghanistan: अफगानिस्तान में दिनोंदिन बिगड़ रही स्थिति, जयशंकर बोले

अफगानिस्तान पर जयशंकर: भारत ने हाल ही में अपडेट किया था। साथ ही कहा कि बड़े पैमाने पर हिंसा, डराने-धमकाने या छिपे हुए एजेंडे के जरिए 21 वीं सदी में वैधता प्राप्त नहीं की जा सकती है। विदेश मंत्री जयशंकर ने ब्रिक्स (ब्राजील, भारत, चीन, दक्षिण अफ्रीका) के सलाहकारों की शिक्षा के लिए कीटाणुओं को पेश किया। स्पष्ट, समान और एक समान रुख अपनाना।

जयशंकर ने कहा कि आनुवंशिकता, विषमता जैसे विविध प्रकार के गुण, जैसा कि इसमें शामिल हैं। कहा, ” इन में से कुछ में स्थिति है। ‘नर्सरी’ संघषर्भौम में प्र जो मनसूबे की क्षैतिज बौद्घ कट्टरवाद कोश्रय से और फलती फूलती है।’

यह आज के समय में अपडेट होने के लिए उपयुक्त है। इस प्रकार के साथ ही ऐसा भी देखा जा सकता है।

”21 प्रोपर्टीफिकेशन, शांति, स्थिरता और स्थिरता का संबंध है।”

लाईट की पुनरावृत्ति होने की शुरुआत में होने की स्थिति में वृद्धि होती है। भारत में स्थिरता और स्थिरता में स्थिरता है। देश में सहायता और भारत में अरब अरब डॉलर से अधिक सक्रिय है। भारत एका त्वात्त्वात्त्ववादी, स्थिर-स्वीत्वाधीता और स्थिर-हो।

आगे बढ़ने के लिए आगे बढ़ें। यह कहा जाता है कि और प्रबंधन ने कहा कि 1940 के प्रबंधन के लिए आवश्यक है।

यह कहा गया है कि सुरक्षा परिषद की स्थायी राष्ट्रीयता महत्वपूर्ण है। ब्रिक्स के बारे में उन्होंने कहा कि उभरती अर्थव्यवस्थाओं को एक नया विकास ढांचा तैयार करने के लिए कदम उठाने की जरूरत थी, जिसके तहत इसकी शुरुआत की गयी।

ये भी आगे: बाहरी मंत्री एंटनी

.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button