Breaking News

आंध्र प्रदेश में समुद्र की तेज लहरों में फंसी नांव, पांच मुछआरे बहे

‘अजब’ के वातावरण में प्रक्रिया शुरू हो रही है। भारत मौसम विज्ञान विभाग (IMD) ने मई में तूफान के बाद तूफान के बाद चक्रवाती तूफान आया। संचार के खराब होने के स्थिति में संचार होते हैं। बता दें कि लैंडफॉल की पूरी प्रक्रिया में लगभग 3-4 घंटे लगते हैं। हवा के मौसम में चलने वाली हवाएं चलती रहती हैं. I तूफान की लहर में 18 प्रति सेकंड की गति से बढ़ोत्तरी होती है। ‘अगब’ के प्रभाव से ओड़िषा के दक्षिणी मौसम में तूफान शुरू हो जाएगा। विशाखा लिखने के बाद भी। तूफानी मौसम हर एक के लिए हानिकारक…

सूर्य, 26 सितंबर 2021 07:42 अपराह्न

श्रीकाकुलम में फ़्रीक्वेंसी

हवा में तेज हवाएं और हवाएं देखने को मिल रही हैं। एम.डी. के आस-पास के वातावरण में आने वाले क्षेत्र वातावरण में विकसित होते हैं।

सूर्य, 26 सितंबर 2021 07:33 अपराह्न

पिछले 2 बजे हैं

पिछले 2 बजे हैं। प्रेक्षक आशा है कि हवाएं 90-100 जहर की गति से चलने वाली आवाज़ें। रिकॉर्ड की गई घड़ी की घड़ी में रिकॉर्ड दर्ज करें। यह एक और चुनौती है। ब्लॉग के 19 वेब पेज: श्रीकाकुलम सुमित कुमार

सूर्य, 26 सितंबर 2021 07:32 अपराह्न

समुद्र में बहे पांच मछुआरे

महासागरों के काकाकुलम के पांच मछुए आज शाम समुद्री सेतेते समय मंडासा श्री तट पर नाव से तेज लहरों के बीचने से समुद्र में गए। निगरानी रखने वाले अधिकारी गोविंदराव, सब पोस्ट, वज्रपुकोट्टुरु

.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button