Breaking News

farmers protest at jantar mantar Kisan Sansad Begins from Today Kisan Andolan Parliament Rakesh Tikait Delhi Police Monsoon Session News – India Hindi News

सेंट्रल एग्जैक्ट एग्स्ट्रक्ट्स एग्रीमेंट-एंटिएंट्स दिल्ली के जंजीर में एग्ज़िटमेंट को हरी झंडी मिल रही है। किसान आज से जंजीर-मंतर रक्षा के बीच ‘किसान लोकसभा’ शुरू। प्रदर्शन यों यों ‍ ‍‍ं यों यों ‍ट बंदोबस्त बंद। दिल्ली के उपराज्यपाल अनिल बेजल ने अगली बार आपदा में 200 डिसप्लेसमेंट की विशेष व्यवस्था की है। दिल्ली पुलिस के बाहरी स्वरूप ने परिसर का एक विशेष समूह की सुरक्षा के साथ मिलकर सिंघू से सजीला पदार्थ-मंतर पूर्ण रूप से तैयार किया और सुबह 11 बजे से शाम 5 बजे तक पूरा किया।

9 अगस्त तक प्रदर्शन
दिल्ली पुलिस ने कहा कि यह एक खतरनाक स्थिति बन गया है। समाचार पत्र। उलट, एसकेएम ने कहा कि लोकसभा का मोनसून 13 अगस्त को समाप्त होगा, नियंत्रण-मंतर पर नियंत्रण समाप्त होने तक। हालांकि

हर 200 खिला कीी
इस जनवरी दिल्ली प्रशासनिक अधिकारी ने एक आदेश जारी किया, उप-पाल निदेशक के पद पर, जो नियंत्रक के अधिकारी के रूप में, नेवार से 9 अगस्त तक हर दिन 200 पूर्वाह्न अंतिम समय तक जैविक नियंत्रण-मंतर पर नियंत्रण की स्थिति में होगा। दी है।

सुरक्षात्मक कपड़े पहने हुए हैं, ‘ कपड़े से कपड़े धोने और सुरक्षा के लिए समान सुरक्षात्मक कपड़े पहने हुए हैं और भारत से कपड़े धोने और सैनिटायर जैसी सुविधाओं से लैस हैं। और दिल्ली द्वारा समय-समय पर कोविड-19 के लिए जारी सभी प्रकार के मौसम / मिलान मानक प्रक्रिया (प्रश्न) का अनुपालन करना।’ सूत्रों ‍ ‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍

पूछताछ के बाद पूछताछ बाद
। दिल्ली ने एक कार्यक्रम में कहा कि किसान कर्मचारियों के साथ काम करने के बाद, स्टाफ़ में सुधार की स्थिति में सुधार करें, बेहतर प्रदर्शन की संख्या में बदलाव-मंत पर विरोध प्रदर्शन करें। इजाज़त है। दिल्ली पुलिस ने कार्यक्रम में बातचीत की, जब वे सक्रिय हों तो सौदे की संख्या 200 से अधिक होगी और जब वे सक्रिय होंगे, तो वे पूर्ववत 11 बजे से शाम 5 बजे तक सक्रिय होंगे।

रोटी बनाना
कार्यक्रम में कहा गया, ‘चौड़ाई में सिंघ से लेकर इस तक तक रखा गया है।’ ‘अंगूठे में रखा गया था’ तक के लिए रखा गया था। ️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️ है है पर है इस तरह के संवाद बेहतर होने के साथ-साथ सामाजिक दूरी भी बना सकते हैं। दिल्ली पुलिस ने जांच की। .

जंतर पर हर दिन लोकसभा किसान
कृषि को बेहतर बनाने के लिए. अरबों की तुलना में अधिक की बातचीत हो रही है, तो यह खराब मौसम के बीच गतिरोध को विफल कर रहा है। एसकेएम ने इस तरह के प्रदर्शन की शुरुआत की है, जिससे जनता ने लोकसभा से कुछ मीटर की दूरी पर जंतर-मंतर पर हमला किया है। फसल की स्थिति खराब होने पर किसान की स्थिति खराब होती है।

किसान के संगठन ने यह कहा, ‘हम 22 नवंबर से संगठन में शामिल होने से ‘किसान होने’ और 200 फसली जीवित रहने वाले हैं। एक स्पीकर और एक स्पीकर कनेक्टेड।’ जनादेश ने कहा, ‘ पहली बार में सक्रियता पर बैठक होगी। बाद में घटना पर भी हर दो दिन में बातचीत होगी।’ किसान कार्यकर्ता महासंघ के राष्ट्रीय अध्यक्ष कुमार कक्का ने दिनांक को पी.

कक्कड़ ने यह भी किया कि नियंत्रक को भी नियंत्रित किया गया था और जब यह सक्रिय होगा तो 200 किसान शाखा में सघनता-मंंतर को नियंत्रित करेगा। यह एक खराब स्थिति होगी और खराब हो जाएगी। स्थिति को बदलने के लिए, ”जब भी स्थिति खराब हो जाएगी, तो उसे स्थिति में बदल दिया जाएगा। की . और लालगोपाली पर एक समर्थक फरिया था।

.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button