States

एशिया में फेमस चाचा नेहरू अस्पताल फिर होगा फंक्शनल, सीएम योगी के निर्देश पर तैयार हो रही है कार्य योजना

<पी शैली ="टेक्स्ट-एलाइन: जस्टिफाई;">कानपुर: कोरोना की चपेट में आने वाले व्यक्ति को व्यवहार करने के लिए उसका पता कैसे पूरा किया जाता है। स्वच्छ वातावरण में चलने वाले वातावरण में जैसे ही वातावरण में रखा जाता है। ऐसा ही एक अस्पताल है चाचा नेहरू अस्पताल जो अब तक शो पीस बना हुआ था लेकिन सीएम के हस्तक्षेप के बाद अब इसे फंक्शनल किया जा रहा है।  

1960 में उन्हें रखा गया था
कानपुर नगर का ये ताजा मावा है। सन 1960 में 1995 ये थे कि कोरोना की चपेट में आने से पहले ही खराब हो गए थे। स्थिर रहने के लिए.  

योगी ने निर्देश दिया 
कान नगर नगर में तापमान 3 और 41 वायुपेंसरी हैं। डॉक्टर के नाम पर डेली बेसिस पर काम करने वाले एक ही डॉक्टर हैं। अब कोपागंड़ का संपूर्ण पोर्टेबल पोर्टेबल मेँ शामिल होने के लिए यह पूरी तरह से सुसज्जित है। । खुशियों को मौसम में रखने वाले लोगों की देखभाल करें। अधिकारी, नगर आयुक्त, नगर पालिका पर जिले का दौरा करें। ️ मुख्यमंत्री️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️  

50 बिस्तर के साथ शुरू हो रहा है
नपुर के मास्क को 50 बिस्तर के साथ शुरू किया गया। 20 बिल्‍ट अपडेट और 30 बिल्‍ट अपडेट। लहर की लहरों की जांच के लिए अच्छी तरह से जांचा जाता है। दिन-रात ओढ़ ​​भी चलाई।  

तैयारर योजना 
हालत 50 बिस्तर के लिए, डॉक्टर, वार्ड मौसम और मौसम पीडियाट्रिक, वायु, पेय पदार्थ, किटाल प्लांट बिल आदि के संबंध में योजना तैयार करने की योजना है। लुधियाना में हेज़ सेन्टर में 10 दिन की छुट्टी पर जाने के लिए समाचार पत्र के जानकार का पता चल जाएगा। रंग पुटाई के लिए नगर स्वास्थ्य अधिकारी डॉक्टर अमित सिंह की जिम्मेदारी है और मुआयना नगर पालिका प्रमिला कर रहे हैं।

स्टेट से मिली हरी झंडी
कानपुर की नगर प्रमिला में योगी आदित्यनाथ से हरी झंडी मिली है। अब जल्द ही पूरे एशिया में फेमस रहे इस अस्पताल को चालू करवाने की कवायद में पूरा प्रशासन जुटा हुआ है। शीघ्र ही कॉन्ट्रेक्ट किया गया।  

ये भी पढ़ें: 

प्रिय गांधी ने कहा कि यूपी सरकार पर साधा,- अब कब्रों से रामनामी भी जाती है

Related Articles

Back to top button