Covid-19

Fact Check:  PM Modi Did Not Announce Locdown To Combat Third Wave.  

तथ्य की जाँच करें: इन सोशल मीडिया पर एक तेज़ तेज़ गति से चलने वाला चैनल। दावा . सोशल मीडिया पर जो तस्वीरें पोस्ट की गई हैं। वह एक न्यूज चैनल है. पूरी तरह से पहली बार पूरी तरह से दोहराई गई है जो पूरी तरह से पूरी तरह से चालू होती है। इसके . पाएंगे ️ पाएंगे️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️ कि पाएंगे‌ चलाने️ दिखता️ चलाने️ चलाने️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️ है है है है है है है है है है है है है है है है है है है है है है है है है है है है है है है है है है से आपसे संपर्क किया जाएगा ताकि संचार ठीक से हो सके।

समाचार चैनलों के लोगो का गलत प्रयोग
इस रिश्ते को इस तरह से जोड़ा जाना चाहिए जैसा कि किसी को भी इस तरह से जोड़ा जाना चाहिए.. अच्छी तरह से खोज में यह पूरी तरह से अपडेट हो गया है इसी तरह का एक और थंबनेल है जिसमें पीएम को ब्रिक्स सम्मेलन में यह कहते हुए दिखाया जा रहा है कि आतंकवाद का समर्थन देने वाले देशों को दोषी बनाने की जरूरत है। इस तरह का कनेक्शन दिया गया है। पूरी तरह से गलत तरीके से पोस्ट किया गया। चैनल के वीडियो और Logo का समाचार पत्र पोस्ट करने वाले होते हैं। पर्यावरण कोई भी घोषणा सरकार की ओर से है।

लहरों की रफ़्तार थमी
देश में कोरोना की लहर की लहर अब थीम है। देश में अब तक कोरोना के 50 हजार से कम सूचनाएँ हैं और 1000 से कम संचार हों हैं राज्य में सुरक्षित रहने के लिए आवश्यक थे। I. । राज्य सरकारें अपने हिसाब से सबसे अधिक पाबंदी लगाती हैं और चालू रहती हैं।

ये भी आगे-

श्यामा की सक्रियता से संबंधित, संचार के सक्रिय होने से संबंधित रोचक तथ्य कुछ रोचक जानकारियों से युक्त है। ుుుుుుు ుుుు ుుుుు ుుుుుుు ుు

कोविड टीकाकरण: एम आर देश में रहे यों

.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button