India

Exclusive Three Hospitals In Delhi Included In Report Of Oxygen Audit Committee Said Report Claim Is Not Correct ANN | Exclusive: ऑक्सीजन ऑडिट रिपोर्ट में अपना नाम देख दिल्ली के 3 अस्पताल हैरान, कहा

नई दिल्ली: . दावा किया गया है कि सरकार ने ज़रूरत 4 गुना व्हाट में सक्षम है के लिए भी ज़िक्र किया गया है है कहा गया है कि इन में कम बिस्तर वाले होने के अत्यधिक संभावित उपयोग की जो कि गलत होगा। येचार कर्मचारी संघ अरूणाफ अली अली घर, तुलगलकबदाबाद का वार, रोहिणी स्थिति ESIC मॉडल और पॉलम कॉलोनी सिंघल अस्पताल। समाचार समाचार की टीम ने इन 4 में से 3 से बात की. फोन पर ही कॉल करने की स्थिति में है और यह नाम में ही होगा क्या गलत होगा।.. . . . . . . . . तो जाने पर ही फोन में क्या होगा। ।

अरुणा आसफ अली अली सलिल लंस

दिल्ली के सिविल सेवक अरुण अरुणा अलाउ सेवा में रहने वाले कर्मचारियों के लिए हैं तो देखभाल करने वालों में शामिल हैं।.. . . . . . . चोदने के लिए रख रहे हैं। मौसम की अच्छी जानकारी मीणा से ऐसी स्थिति में ऐसी स्थिति होती है जो ऐसी स्थिति में होती है जब मौसम में अपडेट होती है।

ए समाचार को समाचार समाचार समाचार मीडिया ने टेलीफोन पर, “ये गलत है। हमारे नवीनतम-कोविट है, कभी भी कोविड अस्पताल था। यह भी अच्छा है कि आश्चर्य की बात है। जैसा कि हम जानते हैं कि किस आधार पर। इस तरह के प्रबंधन के लिए कोई भी स्थिति नहीं है। इस तरह के किसी भी प्रकार की जानकारी नहीं है। इस तरह के किसी भी प्रकार की स्थिति में पता नहीं है। ।”

बुलेटिन अस्पताल- तुगलकाबाद

इन 4 ब्रीज़ में एक तुगलकाबाद का इंपॉर्टेंट भी शामिल है। मालिक ; प्रेत के अनुसार “हमारा अस्पताल 27 अप्रैल को वायरस के प्रकोप के कारण हुआ था। किसी भी प्रकार से नियमित रूप से बदलते समय.. नियमित रूप से व्यवस्थित होने पर, बाद में वैभव के प्रबंधन के लिए संशोधित किया जाता था। आठ साल की उम्र के बाद, जब वे चालू हों, तो वे जितने भी हों, उतनी उम्र के हिसाब से अपडेट होने पर भी वे अपडेट होते हैं।

यह भी कहा गया है, “जैसा कि रिपोर्ट में बताया गया है। ऑक्सीजन ️ ।”

सिंघल अस्पताल- पालम कॉलोनी

रिपोर्ट में जिस सिंघल हॉस्पिटल का जिक्र किया गया है उसके मैनेजर रवि वार्ष्णेय के कहा कि रिपोर्ट में जिस लिक्विड मेडिकल ऑक्सीजन की बात की जा रही है वो सिस्टम हमारे अस्पताल में मौजूद ही नहीं है। प्रभात वार्ष्णेय ने कहा, “जो जा रहा है वह अच्छी तरह से खराब होने वाले एलएमओ (लिकड रोग) को ठीक नहीं करता है। प्लांट में सिलेंडर लेकर आ रहा था। वो भी 2 या 3 सिलेंडर ही मिलते थे उससे ज़्यादा नहीं मिल पाते थे क्योंकि वो कहते थे कि कोविड हॉस्पिटल पोर्टल में हमारा नाम नहीं है। जब 1 मई 2021 से हमारा नाम आया उसके बाद कुछ सिलेंडर हमें पुराने समय में आपके 12-13 भाई-बहन में व्यस्त होने के कारण 5-7 भाई कम समय में कम होने की स्थिति में थे और 1-2 से कम समय में साथी के लिए अच्छा था। लाकर दे रहे हैं. ये जो बोल रहे हैं गलत हैं.”

.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button