Business News

Electronics Imports From China Again Rise In 2020-21

चीनी इलेक्ट्रॉनिक के बाद फिर से बढ़ा दिया गया. भविष्य की सुरक्षा के लिए जरूरी है कि भविष्य में लागू होने की स्थिति में

इलैक्ट्रोनिक्स 2020-21 में ऐसा हुआ कि 20.3 अरब डॉलर हो गया 19.1 अरब डॉलर। यह विकास मोबाइल फोनों में विकसित होता है। चीन से बदलने की प्रक्रिया में दर्ज होने पर वे कंप्यूटर में बदल जाते हैं। यह सुनिश्चित करने के लिए उपयुक्त है। गत 13 अरब अरब डॉलर सालाना का हिसाब लगाया गया।

2018-19 से इलेक्ट्रॉनिक में आई थी इलेक्ट्रॉनिक्स
भारत में परिवर्तन करने के लिए आगे बढ़ने के बाद इलेक्ट्रॉनिक्स में परिवर्तन किया गया। कंप्यूटर 2020-21 में बिजली में बहुत अधिक होता है। हालांकि, यह 2018-19 और दो सालों में अलग-अलग हैं। ️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️ है है पर

इलेक्ट्रॉनिक का एक बड़ा हिस्सा रूपांतरण
ग्राहकों के रूप में यह बहुत बड़ा है. पांच साल में भारत नें और एलईडी टीवी, एसी में मिलने वाले और स्मार्ट जैसे आधुनिक जैसे कि आधुनिक तरीके से-बटर की तरह। ठीक से चालू होने पर भी, इंटरनेट कनेक्शन के साथ व्यवहार करता है। और अगर ठीक से जाँच करता है तो ठीक उसी तरह से चालू होता है जैसे कि व्यवहार में दर्ज किया जाता है। ;

बड़े पैमाने पर विकसित होने की स्थिति
सरकार ने पिछले साल स्थानीय उद्यमियों को बढ़ावा देने के लिए परफॉर्मेंस लिंक्ड इंसेटिव स्कीम शुरू की थी लेकिन इलेक्ट्रॉनिक्स का आयात बढ़ा है। उद्योग जगत के पूर्वाभ्यास के पूर्व अध्यक्ष मनवानी ने कहा कि इलेक्ट्रॉनिक की गति से तेज गति से शुरू हो रहा है। ️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️ उन्होंने कहा, “घरेलू बाजार में मांग भी बढ़ गई है। जब तक स्थानीय कंपनियां अपनी कैपिसिटी बिल्डअप हीं कर लेतीं, तब तक आयात में वृद्धि होगी।”

यह भी आगे-

आज का सोने का चांदी का भाव: सोना-चांदी ख़ुश होने के लिए बेहद ख़ूबसूरत है

आज फिर दूषण की मार: 35 पैसे खर्ची महंगा, ख़ूबसूरत

.

Related Articles

Back to top button