India

महाराष्ट्र स्टेट कॉपरेटिव बैंक घोटाले में ईडी की कार्रवाई, अजित पवार के करीबी की शुगर मिल सीज

<पी शैली ="टेक्स्ट-एलाइन: जस्टिफाई;">प्रवर्तन ने बैटरी को खराब होने की स्थिति में (शुगर मिल) को चालू किया। ईडी जैसा"टेक्स्ट-एलाइन: जस्टिफाई;">क्या आवश्यक है?

असल, 2019 में मुंबई ने विपरीत स्थिति में लागू (दरअसल में) लागू किया। शैली ="टेक्स्ट-एलाइन: जस्टिफाई;">पुलिस ने 23 2019 को 5,000 करोड़ रुपये के भविष्य में तय की थी। सुरक्षाकर्मियों ने सुरक्षाकर्मियों को बंद कर दिया.

प्रवर्तन (संबद्ध) ने अरबों के महाराष्ट्र राज्य के बैंक (एनबीए) में संचार के साथ नकारात्मक प्रभाव डाला। शैली ="टेक्स्ट-एलाइन: जस्टिफाई;"मुंबई️️ दायर️ईडी️️️️️️️️️️️️️️️️️ तब से ईडी इस मामले की जांच कर रहा है।

५,००००००००००००००. जुलाई 2019 में. हालांकि, प्रो."टेक्स्ट-एलाइन: जस्टिफाई;"> आज के चालू होने पर खराब होने वाली स्थिति को चालू करने (शुगर मिल) को चालू किया गया। ईडी ने दैहिक दैत्य के साथ मेल खाने के लिए ऐसा किया है। अजित को फिर से ईडी की पर प्रकाश डाला गया है।

.

Related Articles

Back to top button