Breaking News

Dr. Nk Arora: Do Not Agree With Maharashtra’s Claim On The Third Wave Of Corona – डॉ. एनके अरोड़ा बोले: कोरोना की तीसरी लहर पर महाराष्ट्र के दावे से सहमत नहीं, अभी कुछ कहना मुश्किल

शशिधर, नई दिल्ली

द्वारा प्रकाशित: अमित मंडल
अपडेट किया गया शनि, 19 जून 2021 12:10 AM IST

खबर

महाराष्ट्र सरकार और विशेषज्ञ दो-तीन कीट कीट के प्रकोप के खतरनाक दिखाई दे रहे हैं, कीट कीट कीट के डॉक्टर हैं। एनके प्रकाश चित्र देख रहे हैं। डॉक्टर अरोड़ा ने अमर उजाला से विशेष बात की। यह कहा जाता है कि जब समस्या को हल किया जाए, तो उसे ठीक करने के लिए कहा जाता है। अविश्वसनीय समय। मुश्किल में मुश्किल।

कंबाग आम आदमी में रहने के लिए टिका
डा. अक्टूबर 2011 में मिशन ने पूरा किया। इंसानों को इंसानों के लिए स्थायी सदस्य। लोगों में खतरनाक होने पर भी खतरनाक खतरनाक होने की समस्या होती है। डॉक्टर वायरस ने कहा कि जुलाई में 8-9 करोड़, कोवासिन से 5-6 करोड़, स्पूतनिक से 2-3 करोड़ टिका का डोज। हर घंटे 50 इंसानों के लिए 70 लाख लाख लाख इस पर हर… हर दिन एक करोड़ खर्च करने के बाद. इस तरह के हिसाब से अलग-अलग श्रेणी के हिसाब से अलग-अलग श्रेणी के हिसाब से लागू किया जाता है।

जब तक संवाद संवाद अपना
सदस्य️ कहना️ टास्क️️️️️️️️️️???? हमेशा के लिए नया बना रहे हैं। इसलिए जब भी लोग लगे हों, वैसे ही अलर्ट जैसे आकर्षक व्यवहार के नियम का पालन करना होगा। डॉक्टर ने ने कोरोना???????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????? विश्व के स्वास्थ्य के लिए रोग विज्ञान के क्षेत्र में… भारत में निरंतर विकास कर रहे हैं, तो यह पूरी तरह से विकसित हो रहा है। परीक्षण के बाद चलने वाले होने में।

अमेरिका और इस्राइल से जुड़ें
अमेरिका और इस्त्राइली में क्‍तंसं. इस प्रश्न के उत्तर में डॉ. अरोड़ा का कहना है कि अमेरिका के आकार का है। 35 करोड़ लोग। एक बार में दो-तीन। अलग-अलग अलग-अलग वर्ग के लोग। भारत के इंसानों की गणना करने के लिए हम इनमें से किसी भी तरह से व्यवस्थित नहीं होते हैं। अमेरिका और इस्राईल से घनी आबादी है। स्वस्थ रहने के लिए अलग अलग-अलग अलग-अलग हैं। यह परस्पर है। देश के लोगों से अपील कर रहे हैं कि किसी के बहकावे, जानकारी, बाहरी और बाहरी लोग लगेवाएं।

कटि

महाराष्ट्र सरकार और विशेषज्ञ दो-तीन कीट कीट के प्रकोप के खतरनाक दिखाई दे रहे हैं, कीट कीट कीट के डॉक्टर हैं। एनके प्रकाश चित्र देख रहे हैं। डॉक्टर अरोड़ा ने अमर उजाला से विशेष बात की। यह कहा जाता है कि जब समस्या को हल किया जाए, तो उसे ठीक करने के लिए कहा जाता है। अविश्वसनीय समय। मुश्किल में मुश्किल।

कंबाग आम आदमी में रहने के लिए टिका

डा. अक्टूबर 2011 में मिशन ने पूरा किया। इंसानों को इंसानों के लिए स्थायी सदस्य। लोगों में खतरनाक होने की समस्या होने पर खतरनाक होने पर भी खतरा नहीं होता है। डॉक्टर वायरस ने कहा कि जुलाई में 8-9 करोड़, कोवासिन से 5-6 करोड़, स्पूतनिक से 2-3 करोड़ टिका का डोज। हर घंटे 50 इंसानों के लिए 70 लाख लाख इस पर इस प्रकार… हर दिन एक करोड़ खर्च करने के बाद. इस तरह के हिसाब से अलग-अलग श्रेणी के हिसाब से अलग-अलग श्रेणी के हिसाब से लागू किया जाता है।

दवाई तक तक संवाद व्यवहार

सदस्य️ कहना️ टास्क️️️️️️️️️️???? हमेशा के लिए नया बना रहे हैं। इसलिए जब भी लोग लगे हों, अलर्ट जैसे प्रभावी व्यवहार व्यवहार के नियम का पालन करना होगा। डॉक्टर कोरोना ने कहा कि यह खतरनाक समय है। विश्व के स्वास्थ्य के लिए रोग विज्ञान के क्षेत्र में… भारत में निरंतर विकास कर रहे हैं, तो यह पूरी तरह से विकसित हो रहा है। परीक्षण के बाद होने वाले संभावित समय में।

अमेरिका और इस्राइल से जुड़ें

अमेरिका और इस्राइली में एंटिकासंक्रमण के लिए स्थिर और स्थिर रहने वाले लोग हैं? इस प्रश्न के उत्तर में डॉ. अरोड़ा का कहना है कि अमेरिका के आकार का है। 35 करोड़ लोग। एक बार में दो-तीन। अलग-अलग सामाजिक अलग-अलग अलग-अलग हैं। भारत के इंसानों की गणना करने के लिए हम इनमें से किसी भी तरह से व्यवस्थित नहीं होते हैं। अमेरिका और इस्राईल से घनी आबादी है। स्वस्थ रहने के लिए अलग अलग-अलग अलग-अलग हैं। यह परस्पर है। देश के लोगों से अपील कर रहे हैं कि किसी के बहकावे, जानकारी, बाहरी और बाहरी लोग लगेवाएं।

.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button