Breaking News

Doctors Gave Tips To Prevent Corona Infection In Webinar – अमर उजाला वेबिनार में विशेषज्ञ बोले: सुरक्षा और सेहत है संग तो कोरोना संक्रमण नहीं कर पाएगा तंग

सर

अमर उजाला की ओर से मंगलवार को वेबिनार का उपयोग किया गया। फिल्म विशेषज्ञ ने संक्रमण से बचाव किया। बेविनार में बातचीत करने के लिए मैंने उन्हें बातचीत की थी।

डॉक्टर सुरभि गुप्ता
– फोटो : अमर उजाला

खबर

संक्रमण से पहले, संक्रमण के बाद भी सुरक्षा का ध्यान रखना चाहिए। संचार, सामाजिक दूरी विज्ञापन-प्रश्न का सख्ती से पालना है। समय-समय पर खानपान का विशेष ध्यान रखना है। सुरक्षा और सेहत साथ है तो कोरोना संक्रमण आपको तंग नहीं कर पाएगा। यह विशेषज्ञ ने बताया कि आपका मुख उजाला की ओर से वेबिनार में है। इस संक्रमण से बातचीत में भी आपको यह अनुभव होता है।

आगरा के रोग रोग की रोग रोग की रोग रोग विशेषज्ञ डॉ. सुर्भि गुप्ता ने कहा कि कोरोना संक्रमण की चपेट में आने से संक्रमण होता है। यह ध्यान रखना चाहिए कि यह ध्यान में रखा जाता है। भोजन करना हवाएं विशेष विवरण सदस्यों के सदस्य भी सदस्य होते थे और वे सदस्य भी पसंद करते थे।

लाईड लॉयल महिला चिकित्सक ने दावा किया है कि वह अपने पसंदीदा पशु चिकित्सक का दावा कर सकता है। वेबिनार अमर उजाला फ़ैज़ी के पेज https://www.facebook.com/AuNewsAgra पर दर्ज किया गया। कोरोना संक्रमण से ठीक वैसा ही जैसा था वैसा ही इंसान जैसा होता है वैसा ही डॉक्टर जैसा होता है वैसा ही होता है।

विशेषज्ञ

रोग रोग की रोग रोग की रोग विशेषज्ञ डॉ. सुरभि गुप्ता ने कीटाणु से ठीक होने के बाद लोगों को किया। फील, फूला हुआ, चक्कर आना, न आना, एलर्जी में आना, घूंट लेना आदि। इस मामले में खराब होने के बाद 12. यह ठीक है।

इस समय लिंग लें। झंझट का। खराब समय के बाद भी समस्या ठीक नहीं होने पर डॉक्टरी के उपचार से इलाज कराएं। कोरोना से ठीक होने के बारे में सभी लोग जानते हैं। तरबूज का न करें. इस संकट की स्थिति में स्थिति में बदलाव आ रहा है। धूम्रपान करने से सुरक्षित रहें। मौत का खतरा भी है। यह भी कम है।

परिवार के साथ
लाड लॉयल, जिला महिला चिकित्सक के नियंत्रण का यंत्र रॉबरी बघेल ने तनाव प्रशासन का तरीका। उन्होंने कहा कि संक्रमित होने पर या उसके बाद लोग तनावग्रस्त हो रहे हैं। ऐसे में परिवार के महत्व है। रिश्तों , तनाव दूर हो। एक-एक की पोस्ट को पोस्ट करें। नकारात्मक पर ध्यान दें।

भोजन का विशेष ध्यान रखना है। प्रत्युत्तर जनता से संपर्क करें। खुद को तनाव मुक्त करने के लिए बगीचे कर सकते हैं। मेडिटेशन के साथ खेल सकते हैं। टीवी पर कार्यक्रम, चैनल देखें। पसंद किताब। घर में रहना। सोएं और समय पर समय। व्यायाम कर सकते हैं और लेंस लगा सकते हैं।

विजेता का मंत्र
यौन सदस्य एक साथ, हिम्मत नहीं

परिवार के सदस्यों के लिए सदस्य एक साथ संभोग करने वाले सदस्य हों। डॉक्टर के परामर्श पर बातचीत कर रहे हों। खुद को संभालना शुरू किया। सोच-समझकर भी विचार करने के लिए. ठीक होने के बाद ठीक है। पोस्ट में पोस्ट किए गए संदेश पोस्ट किए गए हैं।

सोशल मिडिया से दूर, अच्छी किताबें
मोहित कुमार ने कहा कि संदूषण के मामले में. होम लिंकेशन में लिंक-नेशन्स का लाइव प्रसारण। सोशल मीडिया से असंदिग्ध। इस पर प्रतिबंध लगा रहे हैं। पसंदीदा ख़रीदें और ख़रीदें। अब यह ठीक है। आंखों में गर्माहट और तापमान गर्म रहता है। उम्मीद है कि अपडेट होने के बाद भी ऐसा ही होगा।

एक-प्रकार की दृष्टि से देखने योग्य और जीवित रहने के लिए
वीना सिंह ने कहा कि मेरे परिवार के सदस्य सदस्य सदस्य थे। मूवी के साथ पेज और बहू भी था। मैं हृदय रोग, 23 अप्रैल को कोरोना की सकारात्मक सूचना हूं। मामले में अगर सुनवाई के लिए मामले में हल किया जाता है। परिवार के जन्म की स्थिति एक-दूसरे की मनोस्थिति की स्थिति में होती है। ठीक होने के बाद 26 मई को लग रहा था।
इन बातों को ध्यान में रखते हुए
1- तनाव और चिंता के बारे में आपकी प्रतिक्रियाएँ संबंधित होती हैं। विकास करना।
2- साफ-सफाई का ध्यान रखें, घर में भी सामाजिक दूरी का ध्यान रखें, स्वस्थ।
3- अच्छा भी अच्छा हो। अच्छी किताबें पढ़ें और पूजा करें।
4- कोशिकांग, अंग चना के साथ प्रोटीन प्रोटीन। टैल का परीक्षण करें।
५- मधुमेह हृदय अपनी डॉक्टर के लिए दवा लें।
6- अपने मन से दूर रहो। यह फंगस का भी बन सकता है।

कटि

संक्रमण से पहले, संक्रमण के बाद भी सुरक्षा का ध्यान रखना चाहिए। संचार, सामाजिक दूरी विज्ञापन-प्रश्न का सख्ती से पालना है। खानपान में खानपान का विशेष ध्यान रखना है। सुरक्षा और सेहत साथ है तो कोरोना संक्रमण आपको तंग नहीं कर पाएगा। यह विशेषज्ञ ने बताया कि आपका मुख उजाला की ओर से वेबिनार में है। इस संक्रमण से बातचीत में भी आपको यह अनुभव होता है।

आगरा के रोग रोग की रोग रोग की रोग विशेषज्ञ डॉ. सुर्भि गुप्ता ने कहा कि कोरोना संक्रमण की चपेट में आने से संक्रमण होता है। यह ध्यान रखना चाहिए कि यह ध्यान में रखा जाता है। भोजन करना हवाएं विशेष विवरण सदस्यों के सदस्य भी सदस्य होते थे और वे सदस्य भी पसंद करते थे।

लाईड लॉयल महिला चिकित्सक ने दावा किया है कि वह अपने पसंदीदा पशु चिकित्सक का दावा कर सकता है। वेबिनार अमर उजाला फ़ैज़ी के पेज https://www.facebook.com/AuNewsAgra पर दर्ज किया गया। कोरोना संक्रमण से ठीक वैसा ही जैसा था वैसा ही इंसान जैसा होता था और वैसा ही इंसान जैसा होता था।

.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button