Panchaang Puraan

Dhanteras 2021: When is Dhanteras 2021 in India date subh Muhurat importance and maa lakshmi pujan vidhi – Astrology in Hindi

हिन्दू धर्म दिवाली के पर्व का विशेष महत्व है। पहली बार धनतेरस का त्योहार है। हिंदू पंचांग के अनुसार, कार्तिक मास के कृष्ण पक्ष योदशी को धनतेरस है। साल धनतेरस 2 नवंबर 2021 इस दिन का दिन है।

धनतेरस-

️ मान्यताओं️ मान्यताओं️ प्रभु️ प्रभु️ प्रभु️ प्रभु️ प्रभु️ प्रभु️ प्रभु️️️️️️ है है. इस दिन खुश्वंतरि की पूजा करना शुभ होता है। इस तारीख को धन्वंतरि जुबली या धन त्रयोदशी के नाम से भी मरे हैं। इस कार्य को करना अच्छा है।

महालक्ष्मी की पूजा-

कि धनतेरस के दिन धन्वंतरि देव और माता लक्ष्मी की पूजा से जीवन में धन की कमी नहीं है। इस दिन कुबेर की पूजा की भी व्यवस्था है।

धनतेरस 2021 शुभ मुहूर्त-

धनतेरस तारीख 2021- 2 नवंबर, तारीख
धन त्रयोदशी पूजा का शुभ मुहूर्त-शाम 5 बजकर 25 मिनट से शाम 6 बजे तक।
प्रदोष काल-शाम 05:39 से 20:14 बजे तक।
वृषभ राशि- शाम 06:51 से 20:47 तक।

धनतेरस पूजा विधि-

1. सबसे पहले चौक पर लाल रंग का रंग.
2. अब गंगाजल स्क्वीकिंग करने वाले धन्वंतरि, महालक्ष्मी और कुबेर की प्रतिमा स्थापित करें।
3. गोबर के जलने का दीपक, धूप और अगरबत्ती जलाएं।
4. अब देवी-देवता को लाल रंग।
5. अब आप जिस तरह से भी धातु या धातु की तरह दिखेंगे, उस पर यह स्थिति होगी।
6. लक्ष्मी स्तोत्र, लक्ष्मी रक्षा, लक्ष्मी यंत्र, कुबेर यंत्र और कुबेर स्तोत्र का पाठ।
7. धनतेरस की पूजा के बाद लक्ष्मी माता के मंत्र का जाप करें और मिठाई का भोग भी लगाएं।

.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button