Panchaang Puraan

Dhanteras 2021 : kubera mantra aarti lyrics in hindi puja vidhi – Astrology in Hindi – Dhanteras 2021 : धनतेरस पर जरूर करें कुबेर मंत्र का जप, धन

धनतेरस 2021: हररस मास के कृष्णोत्सव की तिथि तिथि तिथि तिथि तिथि है। सद्भाव के संबंध में वचनों के संबंध में ️ हुए️ हुए️ हुए️️️️️️️️️ धनतेरस पर गणेश, कुबरे जी और माता लक्ष्मी विधि- व्यवस्था से पूजा- की व्यवस्था है। कुबेर जी को धन का देवता है। कुबेर जी की कृपा से व्यक्ति का जीवन सुखमय हो सकता है। घन कुबेर को प्रसन्न करने के लिए धनतेरस के पावन दिन कुबेर मंत्र का पाठ अवश्य करें।

कुबेर मंत्र-

  • यक्षाय कुबेराय वैश्रवणय, धन धन्याधिपये धन धन्य कुमारी मे देहि दापय स्वाहा।

आज धनतेरस के दिन इस राशि परिवर्तन, इन 4 राशिफलों को फायदा होगा

कुबेर की आरती-

ऊँ जय यक्ष कुबेर,
स्वामीजय यक्ष जैक्ष कुबेर ।
शरणागति भगतों के,
भंडार कुबेर प्रीतिभोज ।
मैं ऊँ जय यक्ष कुबेर…॥

शिव में भक्त कुबेर बड़े,
स्वामी भक्त कुबेर बड़े ।
दैत्यव मानव से,
कई-कई लाइक
मैं ऊँ जय यक्ष कुबेर…॥

स्वर्ण आसन,
शीर्ष पर छत्र फिरे,
स्वामी शीर्ष छत्र फिरे ।
योगिनी मंगल गावैं,
सब जय जय कार
मैं ऊँ जय यक्ष कुबेर…॥

गदा त्रिशूल तालिका में,
शस्त्रा धरे,
स्वामी शस्त्रा धरे ।
आपदा संकट मोचन,
धनु तंकार करें
मैं ऊँ जय यक्ष कुबेर…॥

व्यंजन के बने,
स्वामी व्यंजन बने ।
मोहन
साथ में उड़ना
मैं ऊँ जय यक्ष कुबेर…॥

बल बुद्धि विद्या दाता,
हम शरणाती,
स्वामी हम शरणागति ।
अपने भक्त जनों के,
बेक काम सनवारे
मैं ऊँ जय यक्ष कुबेर…॥

कु मणि की शोभा,
मोत नारद,
स्वामी मोतें नारद ।
अगर कपूर की बात,
चोट के जोत जले
मैं ऊँ जय यक्ष कुबेर…॥

यक्ष कुबेर जी की आरती,
जो कोई नर गावे,
स्वामी जो कोई नर गावे ।
कहत प्रेमपाल स्वामी,
मनवांछित फल पावे ॥
मैं इति श्री कुबेर आरती

.

Related Articles

Back to top button