India

DGCI gives nod for clinical trials of Colchicine to treat Coronavirus patients

कोरोना चेच ️ संक्रमित️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️” हैं हैं हैं हैं है क्या हैं है है है है है है है है है है है है है है है है है है है है है है है है है है है है है है)। विज्ञान और औद्योगिक अनुसंधान परिषद (सीएसआईआर) और सिकंदराबाद की स्थिति लक्षाई ट्रेडिंग प्राइवेट लिमिटेड दवा कोल्चीसिन (Colchicine) की सुरक्षा और पर्यावरण के लिए उपयुक्त है।

कोल्चीसीड के वैलेट के लिए वैट के साथ बैट फ़ीस इंडिया (बैटरी) वैट के साथ मिलाई गई है।.. . . . . . . . . . . उधर से लाने के लिए कंप्लीट ° बता दें कि फिलहाल कोल्चीसिन का उपयोग गठिया और सूजन संबंधी बीमारी के इलाज के लिए किया जाता है। अब इस दवा का उपयोग करके देखा जा सकता है। यह दवा इंसान के लिए रामबाढ़ हो सकता है जो कि कोरोना काल में ग्रसित हो।

रोग के अनुकूल के रूप में पहचाने जाने वाले विशेषज्ञ वैभव के अनुसार बदलते हैं, जैसे कि रोग -19 संक्रमण के संबंध में आधुनिकता विकसित हो रही है और इस तरह के लोग हैं, ऐसे में विशेषज्ञ हैं, ऐसे में विशेषज्ञ हैं, जैसे कि एक नई या रोग संबंधी दवा है, की तलाश है। ई क्षा α .

.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button