Panchaang Puraan

Devshayani Ekadashi 2021 July: Shukla and Brahma yoga are being made on Devshayani Ekadashi know importance – Astrology in Hindi

आषाढ़ की एकादशी तिथि का विशेष महत्व है. आषाढ़ की एकादशी को कौन-सा होगा और आखिरी एकादशी को देवशयनी होगा। साल देवशय एकादशी के दो शुभ संयोग बन रहे हैं। इन शुभ प्रदर्शनों में एकादशी का महत्व और वृद्धि होती है।

कब है देवशयनी एकादशी?

आषाढ़ मास की एक तारीख 20 नवंबर, को। हिन्दू पंचांग के हिसाब से, आषाढ़ मास 25 नवंबर, शुक्रवार से शुरू हो रहा है, जो 24 नवंबर को पूरा होगा। आषाढ़ में ही चतुर्धातुक।

इन शुभ संयोग में देवशयनी एकादशी-

इस साल देवशयनी एकादशी के दिन शुक्ल और ब्रह्म योग बन रहा है। ज्योतिष शास्त्र में योग को शुभ योगों में शामिल किया गया है। इस तरह से सफल रहे हैं। इन योगों में काम से मान की पहचान कर रहे हैं।

देवशयनी एकादशी व्रत का शुभ मुहूर्त-

देवशयनी एकादशी तिथि समाप्ति तिथि – जुलाई 19, 2021 को 09:59 पी एम बजे
देवशयनी एकादशी फाइनल – 20 नवंबर, 2021 को 07:17 बजे दोपहर
देवशयनी एकादशी व्रत पारण- जुलाई 21, 05:36 ए एम से 08:21 ए एम।

कब शुरू होगा चातुर्मास?

20 नवंबर से चातुर्मास शुरू हो रहा है। एकादशी से समाचार अद्यतन. 16 नवंबर 2021 को देवोत्थान एकादशी के दिन शयन काल फाइनल। मान्यता है कि चातुर्मास के दौरान मांगलिक कार्य नहीं होते हैं।

.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button