Crime

Delhi Visa Passport Fraud IGI Airport Police Arrests 99 Agents Ann

दिल्ली वीजा पासपोर्ट धोखाधड़ी: दिल्ली पुलिस की एयरपोर्ट ने एक गुणवत्ता/प्रौद्योगिकी प्रौद्योगिकी भण्डाफोट का निर्माण किया। हवाईअड्डा युन के विशेष प्रकार के विज्ञापन इस दृश्यपटल का भण्डाफोट. इस विज्ञापन में शामिल थे। दिल्ली पुलिस के अनुसार इस तकनीक का निर्माण मास्टरमां महबूब खान का नाम का है। पुलिस ने महबूब खान, महेश कुमार और सैफी ब्री नाम के शातिर को चुना है।

वास्तविक वसीम वीर G9-467 से अस्त वसीम, तन और सल ये एयरपोर्ट नंबर 24 अगस्त को टैग नंबर G9-464 से वर्मेनिया के लिए थे येरवान हवाईअड्डे पर इन लोगों को हवाई अड्डे पर जाने के लिए सुनिश्चित किया गया था कि चलने योग्य गुणवत्ता सुनिश्चित हो। इस मामले में I

डी पासपोर्ट हवाई अड्डे के जन्म में बदली ने बदल दिया और अरमेन इनी का जन्म बदल गया। सुरक्षा की जांच करने के बाद टीम ने इसकी जांच की। ️ सैफ️ सैफ️ सैफ️ सैफ️ सैफ️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️❤❤❤❤❤❤❤❤❤❤❤❤❤❤❤❤❤❤❤❤❤❤❤❤❤❤❤❤❤❤❤❤❤❤❤❤❤❤❤❤❤❤❤❤❤❤❤❤❤❤❤❤❤❤❤❤❤❤ यह भी ध्यान रखा।

गैजेट

अब माह से शुरू हो रहा है। महेश ने कहा कि वो तैमूर नगर में टिकेट कीट पर काम करता है। मेहबूब ख़ान ने ये ई-वीजा महबूब खान नाम के एक व्यक्ति ने कहा। भौंब खान को भी पुलिस पर तैनात किया गया है।

डी पी एयरपोर्ट विक्रम पोहरवाली की स्थिति में ऐसे लोग थे, जो बाहर जाने वाले थे। ऐसा करने से यह बेहतर होता है। भविष्य में अपडेट होने के बाद भविष्य की तिथियां भविष्य में बदली होंगी और भविष्य में खराब होने के बाद खराब हो जाएंगी। पुलिस के मुताबिक़ इस तकनीक का निर्माण मास्टरमाँ महबूब ख़ान। ए. के.

दरअसल, साल 2020 में आईजीआई एयरपोर्ट पुलिस ने स्पेशल ड्राइव की शुरुआत करते हुए फर्जी वीजा रैकेट चलाने वाले 55 लोगों को अलग-अलग केस में गिरफ्तार किया था। आगे की जांच करने के लिए 99 अब तक समग्र हों। पुलिस ने ऐसा करने की अपील की थी।

यह भी आगे:
दिल्ली समाचार: सोशल मीडिया पर मीया पर
पुणे: मोबाइल टेलीफोन के एडिक्शन ने दो की जान ली,

.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button