Crime

Delhi Excise Policy Case : vijay nair and abhishek boinpally arrested by Enforcement Directorate

ऐप पर पढ़ें

दिल्ली शराब नीति घोटाला: दिल्ली में कथित शराब घोटाला मामले में प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने मनी लॉन्ड्रिंग मामले की जांच के मामले में दो व्यावसायियों- विजय नायर और अभिषेक बोइनपल्ली को किया है। विजय नायर आम आदमी पार्टी (आप) के नेता हैं। भ्रष्टाचार के घोटाले के बाद रद्द कर दिया गया दिल्ली सरकार ने नई आबकारी नीति को रद्द कर दिया था।

आधिकारिक सूत्र ने सोमवार को इस बारे में जानकारी देते हुए बताया कि विजय नायर और अभिषेक बोइनपल्ली केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) द्वारा इसी मामले में गिरफ्तार किए जाने के बाद से अभी जेल में हैं। सूत्र ने बताया कि ईडी पीएमएलए की एक विशेष अदालत में दोनों को अभियोग में लेने की मांग की जाएगी।

सीबीआइ के मुताबिक, बोइनपल्ली दक्षिण भारत में रहने वाले सिकंदर के रहने वाले कुछ शराब कारोबारियों के लिए कथित तौर पर लॉबिंग कर रहे थे।

सीबीआइ के अनुसार, बड़े कार्यक्रमों का आयोजन करने वाला (इवेंट जंज) एक कंपनी के पूर्व सीईओ नायर आम आदमी पार्टी (आप) से संबंध रखते हैं। जांच एजेंसी के अनुसार, राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र दिल्ली की सरकार की आबकारी नीति (2021-2022) को आगे बढ़ाने के लिए वे दूसरों के साथ मिल कर कथित तौर पर आपराधिक साजिश रची थी।

ईडी ने इससे पहले शराब कंपनी ‘इंडो स्पिरिट’ के प्रवर्तक समीर, शराब कंपनी ‘पर्नोड रिकार्ड’ के महाप्रबंधक बिनॉय बाबू और अरबिंदो फार्मा के पूर्ण निदेशक और प्रवर्तक पी शरद चंद्र ब्रांड को किया था। अब तक एजेंसी इस मामले में 169 समुद्री अभियान अटका हुआ है।

मनी लॉन्ड्रिंग का मामला सीबीआई का सामने आया है, जिसमें दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया को एक घटना के रूप में नामित किया गया है। सीबीआई ने मामला दर्ज करने के बाद सिसोदिया और दिल्ली सरकार के कुछ चौराहों के परिसरों पर ओपनिंग की थी।

Related Articles

Back to top button