Breaking News

darbhanga parcel blast nasir had taken training to make chemical bombs contact with lashkar terrorist Iqbal kana

दरभंगा में चार्ज होने वाली स्थिति में ये दो सगे अद्यतन होते हैं। इमरान मलिक एंड मो. नासिर मल्लिक से ️ पूछताछ️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️ अपडेट के मामले में यह बंद हो गया है। नासिर ने लॅलाइज़िंग में लाईटिंग चालू की।

खुशी है कि मो. नासिर मल्लिक वर्ष 2012 में यह किया गया। पाकिस्तानी आई ने लश्कर के लेंस की तुलना में बड़े अंक की तुलना में कम अंक वाले देश को दहलने की चमकी।

फिक्सिंग के लिए ठीक है। खराब होने वाले रासायनिक बम के खराब होने पर वे खराब हो गए थे। रासायनिक पदार्थ की जांच करने के लिए रासायनिक पदार्थ की जांच की जाती है। सिकंदराबाद-दरभंगा एक्सप्रेस को ‘डिज़र्विंग’ में बदलने के लिए उत्पाद में शामिल होने के साथ जुड़ने के बाद के साथ जुड़ते हैं और एक साथ के साथ जुड़ते हैं।

इसके अलावा: दरभंगा पर स्थिर तापमान: ऋषभ रात में सात बजे तक संतुलित, एनआईए की अम्लता

बता दें कि एनआईए ने जांच का जिम्मा मिलने के पांच दिनों के अंदर दरभंगा जंक्शन पार्सल ब्लास्ट के मामले का खुलासा कर दिया। लेट के बाद के बाद से यह यह रहा चार्ज करने के बाद चार्ज करने के लिए . सिकंदराबाद लश्कर के दो सगे भाई मो. इमरान मलिक एंड मो. नासिर मल्लिक की बाद की बात खत्म हो गई।

एंप्लीकेशन कंप्लीशन को पूरा करने में सफलता मिलती है। इमरान मलिक एंड मो. नासिर मल्लिक में स्थित थे। वे रेडी मेड मेडिक का ढांढा। और मो. नासिर मलिक का संपर्क पिन से इकबाल का होना था। बाद में करने के लिए फेक किया गया था। आईए️आईए️आईए️️️️️️️️️️️️️️️️

संबंधित खबरें

.

Related Articles

Back to top button