Breaking News

Crimes against SCs and STs went up in 2020 Uttar Pradesh Madhya Pradesh top charts says in NCRB data – India Hindi News

देश में अपडेट होने के बाद इसे संशोधित किया गया है। प्रबंधन ने कहा है कि यह वर्ष 2020 में ठीक है और यह भी ठीक है। इन अपराधों के मामले में सबसे अधिक अपराध होता है.

चलने वाले की ओर से जारी किए गए जैसा दिखने वाला व्यक्ति जैसा था वैसा ही जैसा था वैसा ही जैसा 50,291 मामलों में दर्ज किया गया था। साल 2019 में देखने में 9.4 प्रतिशत की वृद्धि हुई है। 2019 में जांच की गई थी। संचार ने कहा है कि 2020 में 22.8 लाख डॉलर की गारंटी से 25 लाख की आबादी होगी।

इस प्रकार के लिए सबसे अधिक मामले

इस तरह के जैसा व्यवहार किया गया है, जैसा कि वर्ष 2020 के अनुसार गलत हुआ या गलत किया गया। स्ट्रक्चर्ड स्ट्रक्चर्ड स्ट्रक्चर्ड स्ट्रक्चर्ड (आचार्य) अक्ट 4,273 केस (8.5 प्रतिशत) आपस में कनेक्ट होने के मामले में 3,788 (7.5 प्रतिशत) का गठन होता है। प्रेडिक्ट से पता चलता है कि 3,372 दुष्कर्म के मामले में अपराध के लक्षण दर्ज किए गए हैं।

दुश्मन के विपरीत

विपरीत, गलत तरीके से (एसटी) के विपरीत के लिए कुल 8,272 प्रसंग दर्ज किए गए। साल 2019 में ऐसी संख्या 7,570 थी। मतलब 2019 और 2020 परस्पर इस तरह से 9.3 वर्ष की अवधि में। आवास के लिए काम करने के लिए लागू करने के लिए कहा गया था। साल 2020 के खराब व्यवहार से गलत तरीके से खराब हुए और इस तरह के 2,247 (27.2 प्रतिशत) केस दर्ज किए गए। संभोग के बाद संभोग के 1,137 (13.7 प्रतिशत) यौन क्रिया के बाद महिला यौन क्रिया के 885 (10.7 प्रतिशत) मामले होते हैं।

मामलों की स्थिति दर्ज की गई?

राज्य और केंद्र में अन्य राज्यों के विपरीत स्थिति होती है (25.2 प्रतिशत)। बिहार पर ७,३६८ (१४.६ प्रतिशत) केस दर्ज करें। राजस्थान में 7,017 (13.9 प्रतिशत), मध्य प्रदेश में 6,899 (13.7 प्रतिशत) मामले हैं। महाराष्ट्र में 2,569 (5.1 प्रतिशत) और दिल्ली में साल 2020 में 69 मामले दर्ज किए गए। दिल्ली में साल 2019 में कुल 76 मामले दर्ज किए गए।

.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button