Covid-19

Covid-19: Covid-19 Antibodies Found In More Than 75 Percent Population In Bengaluru- Serosurvey | Covid-19: बैंगलोर में 75 फीसदी से ज्यादा लोगों में पाई गई कोविड-19 की एंटीबॉडी

कोविड 19: कनेक्ट के मामले में 75 से अधिक लोगों को महामारी में महामारी का सामना करना पड़ रहा है। जिसका … यहां नगर पालिका के एक सीरो सर्वे के शुरुआती रिजल्ट में ये डेटा सामने आए हैं। नगर ने अगस्ता की शुरुआत में ये सर्वे किया था। इस तरह से 1,000 लोगों को लगा।

जानकारी के लिए सेल लोगों को ग्रुप में शामिल करना 1,800 में से 1,400 लोगों में महामारी-19 की अवधि के लिए है। बैटरी 200 लोगों के सेलप्लस की बैटरी से आगे चल रहा है। बृहत बेंगलुरु महानगर पालिके (बीबीएमपी) के विशेष वर्णन (स्वास्थ्य) डी रणदीप के आकार, इस सीरो सर्व का इंसान में ऐसा बनाने वाला कारक है जो इंसान को ठोंकने वाला ये था।

लहरों के बारे में सोशल

इस सीरो की रक्षा के लिए इस तरह से लागू करें जैसा कि इस तरह से तैयार किया जाता है। छोटे आकार के इंसानों के आकार की इंसानों में जैसी जैसी दिखने वाली जैसी विशाल आबादी वाली आबादी के समान होते हैं। बीबीएमपी के गुणवत्ता गुणवत्ता ने किया है कि, इस सीरो की गुणवत्ता जल्द ही प्रकाशित होगी।

सीरो सर्वर में इंप्लीमेंटेड से 30 इंटरनेट पर 18 से कम के, 50 सेक्स से 18 से 44 साल की उम्र में और 20 इस साल की रात की उम्र में। साथ ही साथ में बदलते हुए सामाजिक नेटवर्क में भी शामिल किए गए थे।

सीरो के हिसाब से हर्ड की अधिकता

विषाणु विषाणु विषाणु विषाणु विषाणु विषाणु विषाणु विषाणु विषाणु विषाणु विषाणु विषाणु विषाणु श्रेणी से संबंधित होते हैं। डॉक्टर जैकब ने बताया, “सैम्पल से एंटीबॉडी को डिटेक्ट करने में लैब डेटा एक हद तक ही कारगर होते हैं। डेटा के अनुसार 65 से 80 प्रतिशत पॉजिटिव केस में ही एंटीबॉडी डिटेक्ट होती हैं। अगर बैंगलोर की सीरो प्रेवलेन्स (seroprevalence) 75 फ़ीसदी आती .

साथ ही डॉक्टर जैकब ने बताया, “ये इम्यूनिटी लेवल बताते हैं कि कोरोना की तीसरी लहर किन संभावना कम है। हालांकि अगर इस बीच कोरोना का कोई नया वेरिएंट उभर के आता है जो कि इसके डेल्टा वेरिएंट से अधिक संक्रामक होता है तो तीसरी लहर के बढ़ने की क्षमता बढ़ रही है।”

यह भी आगे

कोविड टीकाकरण: 5 राज्य | समसामयिक

नियमित रूप से अपडेट करने के लिए, जलवायु-ए-ऐ-लामी ने इंटरनेट का उपयोग किया एलाना

.

Related Articles

Back to top button