Breaking News

Cm Yogi Adityanath And Jp Nadda Visits To Agra Today – सीएम योगी और जेपी नड्डा आज आगरा में: ‘मिशन-2022’ की चुनावी रणनीति पर होगा मंथन

खुशनुमा अमर उजाला, आगरा

द्वारा प्रकाशित: मुकी कुमार
अपडेट किया गया सूर्य, 08 अगस्त 2021 12:03 AM IST

सर

अफॉर्ड के अध्यक्ष पद के लिए अध्यक्ष पद नड्डा को आगरा में बजबज के नबं हैं। पार्टी ने बैठक की। दिसंबर-2022 की नीति पर आधारित।

दिल्ली
– फोटो : अमर उजाला

खबर

योगी आदित्यनाथ की सुबह 10:40 बजे के बाद वायुयान से एयर खेरिया हवाई अड्डे पर उतरेगा। सात बजे शहर में। 5.35 बजे शाम के लिए। बैठक में शामिल होने के लिए यह बैठक आयोजित की गई। जगह जगह स्वागत द्वार बनाए गए हैं, जहां भाजपा कार्यकर्ता पुष्प वर्षा करके स्वागत करेंगे।

फतेहाबाद ताज का ताज सुबह 11 बजे से दोपहर 2 बजे तक शुरू होगा। प्रभामंडल के सभी मौसमों के साथ बैठकें. सुबह तीन फतेहाबाद रोड पर भगवान विष्णु भगवान भगवान विष्णु भगवान को सुसज्जित किया गया। मुख्यमंत्री ;

बूथ
जप के अध्यक्ष नड्डा खेरिया हवाई अड्डे से सदस्य फतेहाबाद रोड अस्पताल विलास देखना चाहते हैं। 11 बजे से संबंधित सदस्यों की बैठकें। इसमें वह बूथ की मजबूती से लेकर संगठन की संरचना को लेकर विचार विमर्श करेंगे। जल के कार्य के साथ ही लहरों के लिए भी चेतावनी देते हैं।

लेन-देन में कार्ड, ऋतिक और अन्य स्थिति के साथ मीटिंग में शामिल हों। योगी आदित्यनाथ, प्रदेश अध्यक्ष स्वाधीन देव सिंह, राज्य महामंत्री संगठन सुर बंसल भी विज्ञात। दोपहर के भोजन के समय सदस्य के सदस्य फलेहाबाद रोड पर प्रदूषित होते हैं। डेटाबेस भरने के लिए.

कटि

योगी आदित्यनाथ की सुबह 10:40 बजे के बाद वायुयान से एयर खेरिया हवाई अड्डे पर उतरेगा। सात बजे शहर में। 5.35 बजे शाम के लिए। बैठक में शामिल होने के लिए यह बैठक आयोजित की गई। जगह जगह स्वागत द्वार बनाए गए हैं, जहां भाजपा कार्यकर्ता पुष्प वर्षा करके स्वागत करेंगे।

फतेहाबाद ताज का ताज सुबह 11 बजे से दोपहर 2 बजे तक शुरू होगा। प्रभामंडल के सभी मौसमों के साथ बैठकें. सुबह तीन फतेहाबाद रोड पर भगवान विष्णु भगवान भगवान विष्णु भगवान को सुसज्जित किया गया। मुख्यमंत्री ;

बूथ

जप के अध्यक्ष नड्डा खेरिया हवाई अड्डे से सदस्य फतेहाबाद रोड अस्पताल विलास देखना चाहते हैं। 11 बजे से संबंधित सदस्यों की बैठकें। इसमें वह बूथ की मजबूती से लेकर संगठन की संरचना को लेकर विचार विमर्श करेंगे। जल के कार्य के साथ ही लहरों के लिए भी चेतावनी देते हैं।

.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button