Festivals

Chhath Puja 2021 Date: छठ पूजा कब है? नोट कर लें डेट

Chhath Puja 2021 Date: कार्तिक मास की छठ पूजा 8 नवंबर 2021 से शुरू हो रही है. जानें पूज विधि के साथ नहाय, खाय, खरना और सूर्य अर्घ्य देने का सही समय और तारीख.

छठ पूजा उत्तर भारत का एक बहुत ही महत्वपूर्ण त्योहार है। खासकर उत्तर प्रदेश और बिहार के लिए छठ पर्व को दिवाली के समान महत्वपूर्ण माना जा सकता है। भक्त इस पर्व का बेसब्री से इंतजार करते हैं। त्योहार का दिन नजदीक आने के साथ ही तैयारी भी तेजी से शुरू हो जाती है। इसके बाद पूरे उत्साह के साथ छठी मैया की पूजा की जाती है। वैसे तो इस पर्व से कई मान्यताएं भी जुड़ी हुई हैं। छठ व्रत अच्छी फसल, परिवार की सुख-समृद्धि और शहद और बच्चों की लंबी उम्र की कामना के साथ रखा जाता है।




Chhath Puja is an ancient Hindu
Chhath Puja is an ancient Hindu festival dedicated to God Sun and Chhathi Maiya | Representational image

छठ पूजा का दिन और समय

हिन्दू पंचांग के अनुसार यह पर्व कार्तिक मास की षष्ठी से प्रारंभ होता है। चार दिनों तक चलने वाले इस उत्सव की शुरुआत इसी साल 8 नवंबर यानि 2021 से होगी। 8 नवंबर को स्नान के साथ पर्व पर पूजा-अर्चना शुरू होगी। अगले दिन खरना सूर्य को अर्घ्य देने का दिन होगा और फिर अंतिम दिन प्रातः उगते सूर्य को अर्घ्य देकर उत्सव का समापन होगा।




पूजन विधि

खासतौर पर महिलाएं छठ पूजा का व्रत रखती हैं और पूजा में कड़े नियमों का पालन किया जाता है। गाय के गोबर से छलांग लगाकर पूजा स्थल की सफाई की जाती है। बलराम की पूजा के लिए हल की आकृति बनाई जाती है। इसके लिए पुआल और घास का उपयोग किया जाता है। दिनों के अनुसार विशेष पूजा की जाती है।

नहाय खाय- छठ के पहले दिन सफाई और स्नान करने के बाद सूर्य देव को साक्षी मानकर व्रत का व्रत लेना चाहिए. इस दिन व्रत रखने वाले चने की सब्जी, चावल और साग का सेवन करते हैं।

खरना- यह छठ का दूसरा दिन है। जब पूरे दिन उपवास रखा जाता है। गुड़ की खीर खासतौर पर शाम के लिए बनाई जाती है। इस खीर को मिट्टी के चूल्हे पर बनाने की परंपरा है। सूर्य देव को अर्घ्य देने के बाद ही व्रत रखने वाली महिलाएं प्रसाद लेती हैं और फिर पूरे 36 घंटे तक बिना कुछ खाए-पिए व्रत रखती हैं।

तीसरा दिन- तीसरे दिन महिलाएं शाम को किसी तालाब या नदी के पास जाती हैं और सूर्य को अर्घ्य देती हैं।

अंतिम दिन- चौथे दिन प्रात: व्रत करने वाली महिलाएं नदी या तालाब में उतरकर भगवान सूर्य को अर्घ्य दें। पूजा कर व्रत का समापन किया।




सूर्योदय और सूर्यास्त का समय

  • सूर्योदय समय –  सुबह 6:40
  • सूर्यास्त समय –  शाम 5:30

भविष्य तिथियां

  • 28 October 2022 – 31 October 2022
  • 17 November 2023 – 20 November 2023
  • 5 November 2024 – 8 November 2024
  • 26 October 2025 – 29 October 2025

Also Read: chhath puja image

छठ पूजा कब है, छठ पूजा 2020, छठ पूजा फोटो hd, छठ पूजा क्यों मनाया जाता है, छठ पूजा फोटो डाउनलोड, 2021 में छठ पूजा कब है, छठ पूजा, छठ पूजा की फोटो, छठ पूजा फोटो, छठ पूजा के फोटो, 2020 में छठ पूजा कब है, छठ पूजा कितने तारीख को है, छठ पूजा का फोटो, छठ पूजा स्टेटस, chhath puja 2021, 2021 mein chhath puja kab hai,




Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button