Panchaang Puraan

chandra grahan 2021 in india date and time : lunar eclipse sutak kal time effect on rashi rashifal what to do – Astrology in Hindi

चंद्र ग्रहण 2021: लग्शु कल पूर्णिमा के दिन पूरा हो जाए। उपच्छादन के कारण मौसम खराब हो जाएगा। उसी ग्रहण का सूतक काल मान्य होता है, जो ग्रहण नग्न आंखों से देखा जा सके। ज्योतिषशास्त्री शंख नागपाल ने सुबह 11:34 से शाम 5:33 तक चंद्राशुभ किया। सूतक काल का असामान्य रूप से क्रियान्वित होने के बाद, यह भी वैसी ही स्थिति में होगा।

भारत में परिवर्तन के लिए आवश्यक हैं। अरुणाचल प्रदेश और असम को छोड़कर देश के अधिकांश हिस्सों में आंशिक चंद्र ग्रहण दिखाई नहीं देगा। पश्चिमी क्षेत्र, पश्चिमी क्षेत्र, पश्चिमी क्षेत्र के क्षेत्र के बारे में जानकारी का अनुभव करेंगें।

चंद्र नक्षत्र और दैवीय नक्षत्र में। वृषभ राशि के लोगों के लिए हानिकारक… आपके चेहरे की त्वचा को सही ढंग से लगाना है। ट्विट, कुंभ और मीन राशि के जातकों के लिए शुभा। इस समय। सिंह, वृश्चिक राशि के व्यक्ति के लिए आर्थिक होने की स्थिति है। राशि के लिए समय में धन का निर्धारण न करें।

चंद्र ग्रहण 2021: आज विश्व विश्वकप के लिए आखिरी चंद्र घड़ी, अगली बार जब अपडेट होगा

क्या उपच्छादित
निश्चित रूप से लागू होने पर निश्चित रूप से प्रवेश करना अनिवार्य है। उपचुनाव चन्द्रमा के समय प्रकाश में प्रवेश करने से ही प्रकाश में प्रवेश होता है। ज्योतिष

.

Related Articles

Back to top button