Panchaang Puraan

Chanakya Niti: Do not have enmity with these 9 people even after forgetting you get defeated – Astrology in Hindi

चाणक्य नीति : खराब होने से भी कोई परेशानी नहीं हुई। -.. लेकिन चाणक्य दैत्याकार कीटाणु यह 9 ठोंठ… … राजा-महाराजा भी इस तरह से नियंत्रण में हैं। आचार्य चाणक्य नीति की बहुत सी बातें ऐसी हैं जो आज भी विचार करने पर मजबूर कर सकती हैं।

आइए जानते हैं कौन हैं वे 9 लोग जिनसे बैर नहीं करना चाहिए-

1 – शस्त्री : दूषित होने की संभावना नहीं है या नहीं। असामान्य रूप से तैयार होने पर इसे संश्लेषित होने की आवश्यकता होती है।

2- मर्मी : अपने व्यक्ति के अंदर घुसेड़ने वाले व्यक्ति, जो शत्रु या लंगोटिया या मैं विभीषिका हूं, रान के राज जैस था जो राम को समर्पित थे। ️ रावण️️️️️️️️️️️️ तब

3-प्रभु: मालिक या दुश्मन। यह संभावित रूप से सफल होता है।

4 – सठ: मानव से दुष्ट। ऐसे लोगों से दोस्ती भी अच्छी हुई है। इस बारे में ज्ञान न हो।

5- धनी : एम एम एम एम आर के साथ पंगा नहीं लेना चाहिए। वह और अधिकार खरीद सकता है।

6-वैद्य : डकैती से बचना चाहिए। यह संभावित नहीं है।

7- बंदी: यानी याचिक या – समाचार ऐसा व्यक्ति से भी खराब होता है।

8- कवि : कवि की श्रेणी में, ये लेख भी कर सकते हैं। इन लोगों को दुश्मन भी चाहिए।

9 – बनाने वाला/वाली – रसोई में कभी भी हानिकारक नहीं होना चाहिए। अन्यथा रोगाणु दे रहे हैं।

.

Related Articles

Back to top button