Panchaang Puraan

Chaitra Navratri 2022: Keep these things in mind during Chaitra Navratri Know Pujan Vidhi of Maa Durga – Astrology in Hindi

नवरात्रि 2 अप्रैल से 10 बजे तक। का पारण 11 अप्रैल को व्रत। नोवात्रि का मतलब हैध, अर्थ, काम और मोक्ष की प्रेंति के लिए मन्गता के नो रूपों की साधना करने के लिए रात्रिंज। नवरात्रि के पहले दिन।

चैत्र पर्व 2022 घटाना का शुभ मुहूर्त-

02 अप्रैल को चैत्र नवरात्रि का शुभ मुहूर्त प्रारंभ 06 बजकर 10 से 08 बजकर 31 के बीच में। सुबह 12 बजे से 12 बजकर 50 मिनट के बीच में ही सेट कर सकते हैं।

संबंधित खबरें

8 या 9 अप्रैल कब है रामनवमी? जानेंजानें, श्रीराम के प्रति का उत्तम मुहूर्त व विधि

समय

लाल या सफेद सफेद घर में दुर्गा की 3 मूर्ति। साथ ही, दुर्गापूजा में दूर्वा (जो गणेष जी को प्रिय है), तुलसी और आवला (जो विष्णु को प्रिय है)। प्यार करने के लिए वे प्यार करते हैं- जो प्यार करते हों। 14 आक और मदार के फूल भी लागू होते हैं। बेला, केवड़ा, चमेली, चरणब, केसर, सफेदकमलो, पलाश, अशोक, तगर, चम्पा, मौलसिरी, कनेर आदि। इस बात का ध्यान रखें कि माँ दुर्गा की पूजा, आराधना में पूजा पर भी न करें। देवी के मंदिर की सुंदरता माँ भगवती को कृप्या प्रिय और भक्त हर प्रकार की सुरक्षा की याचना कर सकते हैं।

अप्रैल में इन राशिफलों का शुभ अंकल, एक के बाद एक खराब होगा काम

Related Articles

Back to top button