Panchaang Puraan

chaitra navratri 2022 dhan labh aur dhan hani rokne ke upay maa laxmi remedies – Astrology in Hindi – धन

2 अप्रैल से नवरात्रि के पावन पर्व की शुरुआत हो गई है। नवरात्रि के दौरान मां दुर्गा के 9 रूपों की पूजा- अर्चना की जाती है। कई लोग कड़ी मेहनत करने के बाद भी धन- हानि से परेशान रहते हैं। धन- हानि के कई कारण हो सकते हैं। धार्मिक मान्यताओं के अनुसार मां लक्ष्मी धन की देवी हैं। मां लक्ष्मी की कृपा से आर्थिक समस्याओं से छुटकारा मिल जाता है। धन- हानि को दूर करने के लिए मां लक्ष्मी की अराधना करनी चाहिए। मां प्रसन्न होने पर मनवांछित फल देती हैं। मां लक्ष्मी को प्रसन्न करने के लिए नवरात्रि के 9 दिनों तक रोजाना नियम से सुबह और शाम को मां लक्ष्मी की आरती करें। आरती करने से मां लक्ष्मी प्रसन्न होती हैं। मां लक्ष्मी को खीर बहुत पसंद होती है। आप मां लक्ष्मी को खीर का भोग भी लगा सकते हैं। नवरात्रि के दौराना रोजाना नियम से मां लक्ष्मी की आरती करने से आपको आर्थिक समस्याओं से छुटकारा मिल जाएगा। 

अंकराशि : इन तारीखों में जन्मे लोगों के लिए शुभ रहेगा 3 अप्रैल का दिन, नवरात्रि के दूसरे दिन नौकरी- व्यापार में लाभ के योग

मां लक्ष्मी आरती-

ॐ जय लक्ष्मी माता, मैया जय लक्ष्मी माता

संबंधित खबरें

तुमको निशदिन सेवत, मैया जी को निशदिन * सेवत हरि विष्णु विधाता

ॐ जय लक्ष्मी माता-2

उमा, रमा, ब्रह्माणी, तुम ही जग-माता

सूर्य-चन्द्रमा ध्यावत, नारद ऋषि गाता

ॐ जय लक्ष्मी माता-2

दुर्गा रूप निरंजनी, सुख सम्पत्ति दाता

जो कोई तुमको ध्यावत, ऋद्धि-सिद्धि धन पाता

ॐ जय लक्ष्मी माता-2

तुम पाताल-निवासिनि, तुम ही शुभदाता

कर्म-प्रभाव-प्रकाशिनी, भवनिधि की त्राता

ॐ जय लक्ष्मी माता-2

जिस घर में तुम रहतीं, सब सद्गुण आता

सब सम्भव हो जाता, मन नहीं घबराता

ॐ जय लक्ष्मी माता-2

तुम बिन यज्ञ न होते, वस्त्र न कोई पाता

खान-पान का वैभव, सब तुमसे आता

ॐ जय लक्ष्मी माता-2

शुभ-गुण मन्दिर सुन्दर, क्षीरोदधि-जाता

रत्न चतुर्दश तुम बिन, कोई नहीं पाता

ॐ जय लक्ष्मी माता-2

 

Related Articles

Back to top button