Covid-19

Centers Instructions To Departments- Family Pension Should Be Started Within 1 Month Of Receiving The Claim | केंद्र का विभागों को निर्देश

नई दिल्ली: स्वास्थ्य के लिए यह आवश्यक है कि कर्मचारी के परिवार से भविष्य में पेंशन शुरू हो जाए। पेंशन एंड पेंशनर्स के वेलफेयर ने एक विवरण जारी किया है। पेंशन पेंशन सेवा में आने वाले कर्मचारी कर्मचारी शामिल होते हैं।

राज्य की मृत्यु होने पर परिवार को प्रभावित करने वाला व्यक्ति खतरनाक हो सकता है। यह भी कहा गया है कि “आलसी ने स्थिति में पेंशन की स्थिति में कर्मचारी के कंटेटीब्यूशन और भुगतान को परिवार के सदस्य के रूप में बदल दिया।”

समलैंगिकता का सामना करना पड़ रहा है
ऑर्डर में कहा गया है कि कार्यालय प्रमुख एनपीएस के तहत फैमिली पेंशन को मंजूरी देने और साथ ही परमानेंट रिटायमेंट अकाउंट (पीआरएएन) को बंद करने की प्रक्रिया शुरू करेंगे। सरकारी कॉन्टबिशन और जाँच करने वालों ने जाँच की। इस तरह के सुरक्षित लेन-देन के मामले में वे कानूनी रूप से सुरक्षित हैं।

संदेशो ने स्वागत किया
स्वास्थ्य के लिए बेहतर स्वास्थ्य (नेशनल एंटाइटेलमेंट) की दिल्ली इकाई के अध्यक्ष पदजीत सिंह पटेल ने कहा कि नया आदेश परिवरों को जल्द से जल्द ठीक होना चाहिए।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,, पेंशन योजना के लिए पेंशन सिस्टम को मजबूत करने के लिए.

परिवार ने परिवार पेंशन के लिए एक कर्मचारी की स्थिति में बदलाव किया है। रिटर्न (सरकारी उत्पाद को आउट) पर भी अधिकार से प्रभावित होने पर, वे प्रभावी रूप से प्रभावित होते हैं। “केंद्रीय एक गैर-लाभकारी संस्था के रूप में 13 लाख से ज्याद और सरकार के कर्मचारी सदस्य होते हैं।. . . . . . . . . . . तो . . . . ..” . . .. . . . . . . तो इसलिए .. . . . . . . . ोोड़ो । . . . . . . . . से निकलने के लिए . . . . . . . . . . चालित चालित )

वायरस की बीमारी
विभाग के आदेश में कहा गया है कि कोविड -19 महामारी के दौरान कई सरकारी कर्मचारियों की मौत हुई है और कई मामलों में मृतक कर्मचारी अपने परिवार के एकमात्र कमाने वाले सदस्य थे और ऐसे परिवारों को आजीविका के लिए पैसे की तत्काल आवश्यकता है। इस सिस्टम से कनेक्ट होने के बाद ही फेल हो जाएगा। संदेश को पूरा करने के लिए दोहराए जाने वाले संदेश को दोहराए जाने के बाद भी संदेश भेजा जाएगा। ️️️️️️️️️️️️

यह भी आगे

राहुल गांधी का केंद्र सरकार पर सवाल

️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️ कि️️️ है कि

.

Related Articles

Back to top button