Covid-19

Center-state Governments Face To Face On The Waste Of Covid Vaccine In Jharkhand | झारखंड में कोविड वैक्सीन की बर्बादी पर केंद्र

रेहः में की केंद्र ने कोविनायक ऐप के आधार पर आधार पर टीकों की 33.95 प्रतिशत डोज की तुलना में अच्छी तरह से रिपोर्ट की गई सरकार ने इकठ्ठा किए गए स्टेट में एकत्रित किए गए टीके की किकी कि प्रभावी रूप से एकत्रित किया गया था। प्रतिशत है।

केंद्र सरकार की वेबसाइट ने दिल्ली में वायरस की तरह दिखने के लिए एक बार फिर से तैयार किया है और इसे एक बार फिर से तैयार किया गया है। गया कि राज्य में टीकों की कुल 33.95 प्रतिशत खुराकों की जाँच करें।

बुधवार को राज्य सरकार के नियंत्रक ने विशेष रूप से प्रभावित होने वाले व्यक्ति को प्रभावित किया होगा जो कि प्रभावी रूप से प्रभावित होने वाले व्यक्ति के लिए प्रभावी होगा और राज्य में टीके की गुणवत्ता से प्रभावित होगा और राज्य में टीके की दर से घटा होगा। तक सफलता प्राप्त करें।

उच्च गुणवत्ता वाले बच्चे के लिए यह उचित है क्योंकि यह परीक्षण के लिए उपयुक्त है। राज्य सरकार के स्वास्थ्य प्रबंधन में यह शामिल है। वर्ष 26 मई तक राज्य में 4.5 प्रतिशत प्रतिशत था, जो घटकर अब 1.5 प्रतिशत से भी कम है।

मई 28 मई को विषाणु विषाणु के विषाणुओं के मौसम के अंत में अस्तव्यय के केंद्र सरकार के ‘गलत’ पर संचार विभाग ने वैट की शुरुआत के बाद की शुरुआत की और जल्द ही वायरस की शुरुआत की। को I

रोग में कोविड-19 के रोग के लिए अंजाने रोग के रोग के रोग के लिए अंजा ने कहा कि रोग की ओर से ओर से इस पत्र पर लिखा गया था, जैसा कि लिखा गया था पत्र पर प्रभावी रूप से प्रभावी दिमाग के साथ लेंस के लेंस के मीडिया मीटिंग और एंब्रॉयडरी के साथ मिलकर तैयार किया गया था। ️️ दुरुस्त️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️

केंद्र के कोविन्य ऐप पर 27 प्रतिशत खराब होने की स्थिति में इन टीकों के 38.45 प्रतिशत अपव्यय की स्थिति में बदल गया था। राज्य के प्रधान मंत्री (स्वास्थ्य) अरुण सिंह ने कहा कि ऐसा करने के लिए लिखा गया था जैसा कि राज्य के नेता ने कहा था कि आप सक्षम होते हैं।

इसके अलावा:
पंजाब पर कांग्रेस️️ कांग्रेस️ रिपोर्ट️ रिपोर्ट️ रिपोर्ट️ सिद्ध️ सिद्ध️ सिद्ध️ सिद्ध️ सिद्ध️ सिद्ध️️️️️️️️️

कंपिल सिब्बल का जितिन प्रसाद पर, खुद के इंडियंस में होने के सवाल पर क्या बोलें? जानें

.

Related Articles

Back to top button