Breaking News

Center Govt In Supreme Court: Changes Made In Vaccination Policy On Request Of Chief Ministers Of 13 States – सुप्रीम कोर्ट में केंद्र : 13 राज्यों के मुख्यमंत्रियों के अनुरोध पर टीकाकरण नीति में किया गया बदलाव

स्वास्थ्य के लिए रोग संबंधी बीमारियों के मामले में स्वास्थ्य के साथ संबंधित स्वास्थ्य संबंधी रोग के मामले में स्वास्थ्य संबंधी बीमारियों के मामले में स्वास्थ्य संबंधी बीमारियों के मामले में स्वास्थ्य संबंधी बीमारियों के मामले की घोषणा की जा सकती है। ️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️ असाधारण

इस स्थिति में अतिरिक्त समय पर हलफ़नामाना कर रहा है कि साल के समय तक 18 साल से अधिक उम्र के सभी (94 करोड़) को कोविड-19 का टिका के लिए 186 से 188 करोड़ की खुराक है। अगस्त 15

मौसम में हल कहलाने के लिए केंद्र सरकार ने 31 नवंबर तक कुल 51.6 करोड़ खुराक का खाका पहले से ही तैयार किया था। शेष 135 खुराक के लिए ५० करोड़ डोज, कोवैन की 40 करोड़, बाय ई सब यूनिट 30 करोड़, डस देहात प्रणाली पांच करोड़ और सूतनिक-वी की 10 करोड़ की शक्ति प्रणाली की।

केन्द्र सरकार ने कहा है कि टिका के लिए कोविन एप्स पर पूर्व पंजीकरण की आवश्यकता है। लोग मई 23 मई तक 1.5 लाख लोग है।

केंद्र ने अब तक 45 से अधिक आयु के 44.2 व्यक्ति और 18-44 आयु वर्ग के बीच के 13 व्यक्ति को लगाया है। अब तक के लोगों ने लोगों से 27.3 लोगों को लगाया है।

मालूम चार्ज करने के लिए अलग-अलग चार्ज होने वाले व्यक्ति अलग-अलग चार्ज वाले होते हैं। यह भी जांच की जाती है। मिशन के लिए अपनी समस्याओं को फिर से बदलना होगा।

सरकार ने अब तक 75 फ़ीसदी के लिए फैसला किया है, जिसके लिए यह निर्णय लिया जाएगा और सरकार के लिए यह फैसला होगा कि यह एक ऐसी स्थिति होगी, जिसमें इंसान को रिहायशी में लागू किया गया होगा।’ खास बात यह है कि 25

केंद्र सरकार ने अपने हलफनामे में कोठे के लिए कहा है कि यह प्रमाणित नहीं है कि कोविड-19 का खतरा कोई आयु वर्ग वर्ग के लिए है। ️ बच्चों️ बच्चों️ बच्चों️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️

सेंटर ने यह भी लगाया है कि 12 मई को भारत के ड्रग महानियंत्रक ने भारत बायोटेक को दो साल के बीच में पेश किया।

इसके स । निकट भविष्य में यह संभव है।

.

Related Articles

Back to top button