Panchaang Puraan

Budh Asta 2022 January: People of these 5 zodiac signs should be careful from January 18 Mercury can have negative effects – Astrology in Hindi

ज्योतिष शास्त्र में किसी भी ग्रह के अष्ट व उदित होने का अफ़सर 12 राशियों पर है। कुछ अन्य राशियों के लिए शुभ फल देने के लिए. बुध ग्रह 18 बुध का अनंत अनंताें के लिए I

बुध ग्रह मिथुन राशि के स्वामी ग्रह हैं। कन्या राशि में बुध और मीन राशि में के मैनेज हैं। 27 नक्षत्र में बुध ग्रह अशिला, ज्येष्ठा और रेवती नक्षत्र के स्वामी ग्रह हैं। बुध को ज्योतिष शास्त्र में बुद्धि, तार्किक, मित्र मित्र का कारक है।

घर के रखरखाव के लिए जरूरी है, लक्ष्मी कृपा की देखभाल

इन 5 राशियों को सचेत-

बुध के अस्त होने से वृषभ, कर्क, मकर और मकर राशि के लोगों का सामना करना पड़ेगा। इन 5 राशियों के जातकों के कार्य में मैं सक्षम हूं। बेवजह धन सुरक्षित रहेगा। गर्भपात के बाद होने वाली घटना। इस प्रभाव पर असर पड़ सकता है। बुध ग्रह के अस्त होने का मीन, मिथुन, सिंह, कन्या, मीन, धनु और वृश्चिक राशि के व्यक्ति पर शुभ प्रभाव।

30 से शुक्र होने वाला मार्गी, इन 4 राशिफल के भविष्य के दिन

बुध ग्रह को मजबूत करने के उपाय-

मंगल ग्रह की स्थिति के अनुसार, बुध ग्रह की स्थिति मजबूत होगी, हरी हरी घास की स्थिति होगी और भविष्य-पौधों की स्थिति में होगी। बुध ग्रह की कुंडली में स्थिति मजबूत और मजबूत होने पर जातक को शारीरिक और मनोभाव वाला व्यक्ति सम्मोहक होगा। बुध से जांचकर्ता की जांच हो चुकी है। बुध के असर में भी मजबूती आ सकती है।

इस तथ्य से पूरी जानकारी मिलती है कि ये पूर्णतया सत्य हैं। क्षेत्र से संबंधित क्षेत्र के जानकारों…

.

Related Articles

Back to top button