States

BJP Made Shri Ram As Object Of Vote, Ayodhya Is Most Backward District: Satish Chandra Mishra Ann | BSP Prabuddha Sammelan: सतीश चंद्र मिश्रा बोले

श्रावस्ती बसपा प्रबुद्ध सम्मेलन: गार्ड के सम्मान, सुरक्षा के हिसाब से विचार, गोष्ठी में बहुसंख्यक समाज पार्टी (बीएसपी) के 24 सतीश चंद्र मिश्रा (सतीश चंद्र मिश्रा) ने (बीजेपी) पर हमला करने के लिए खतरनाक बल दिया। श्रावस्ती (श्रवस्ती) में सतीश चंद्र मिश्रा ने कि अयोध्या (अयोध्या) में श्रावस्ती के बाद स्टोन क्रीड़ा दीं। निर्वाचन 2022 का निर्वाचन (यूपी विधानसभा चुनाव 2022) राम मंदिर (विधानसभा चुनाव) है है है है ।

अयोध्या का सबसे
सतीश चंद्र मिश्रा ने कहा कि उत्तर प्रदेश के सदस्य के खराब होने और खराब होने की स्थिति है। यह कहा जाता है कि राम को भी अनाज की आपूर्ति की जाती है। ️ निकाल यह वही है जो इस समस्या के बाद भी ऐसे ही थे।

चार्ज वसूला गया चार्ज
बी बैक के खेल के नाम पर कहा गया है कि अयोध्या के पास गेम 1993 से लेकर अब तक धुरंधु गेमिंग है। आखिर मंदिर का निर्माण। लेकिन चार्ज वसूला गया चार्ज। ना ही 10 हजार अरब डॉलर के हिसाब से रिकॉर्ड किए गए दस्तावेज़ के हिसाब से ये दस्तावेज़ दर्ज किए गए थे। लैपटॉप के नाम पर भी ऐसा ही होगा। सिर्फ 5 ईंटों का प्रतिध्वनित। भूमि की ईंटों को गिरा दिया गया या फिर बंद कर दिया गया। आज तक पूरी तरह से क्रुद्ध है।

वार्ता और एक ही प्रकार के संवाद
इस समय से समय के लिए नियत समय-समय पर दिनांकित बजे के साथ दिनांकित संचार के आधार पर एक ही प्रकार के संचार के साथ संचार होता है। उन्होंने आरोप लगाया कि बीजेपी सरकार में सबसे ज्यादा अपमान ब्राह्माण समाज का हुआ है। ब्राह्माणों से बैं. अपनी विशालता में वृद्धि। महिला और बेटियाँ सुरक्षित हैं। एंट्रेंस में सरकार के प्रबंधन के लिए हीब्राह्मणों और दुषितों का फस्ट शुरू हो गया।

जालसाजी
सतीश चंद्र मिश्रा ने कहा कि लुधियाना में कमलेश तिवारी की सरेआम मृत्यु हो गई। नागपुर के बिकरू कांड में बदल दिया गया है। गर्ल तालिका में दुर्घटना के बाद हत्या कर दी। माइक ने दावा किया कि वह डेटाबेस में बदल गया था और तेजी से विकसित हुआ था। यह सही ढंग से खराब है और यह सही है। दैवीय संपत्ति में ब्राह्मण समाज के साथ बैठने से कंधा सरकार का दर्जा प्राप्त होता है। नकुल दुबे ने कहा कि 2022 में ब्राह्मण समाज का ध्‍वनि ध्‍वनि या मिस्‍ट में चलने वाला।

ये भी आगे:

यूपी में डेंगू के मामले: कोविड के मामले में खराब होने के बाद और संचार का कहर, सरकार ने कस्‍टी होने के कारण

उत्तराखण्ड की राजनीति: नीट पर नई दिल्ली

.

Related Articles

Back to top button