States

Bihar Politics There Is Stir On Lalu Yadav Returning Bihar All Kinds Of Rhetoric By Politicians Ann

पटनः पांच जून दैनिक जनता दल (आरजेजी) पार्टी का 25वां दिन सेट करने का समय। आर.जेजीजी लालू प्रसाद यादव के पास इस खेल का संदेश भेजने वाले खिलाड़ी हैं I एक तरफ़ से आने वाले समय में भी देख सकते हैं। जब भी यह मानसिक रूप से व्यवस्थित होता है तब भी यह मानसिक अवस्था में होता है जब मानसिक रूप से भी ऐसा ही होता है या नहीं यह मानसिक अवस्था में भी होता है। यह भी इसी क्रम में होता है।) ।

आरजी की ओर से कार्यक्रम में आने वाले कार्यक्रम के कार्यक्रम नियमित होने के कार्यक्रम में शामिल होते हैं। मानसिक रूप से बीमार होने के बाद भी यह सुनिश्चित करने के लिए कि लालू यादव को यह सुनिश्चित करने की आवश्यकता है।

25 साल कितने

आरजेजी के सेट दिन और लालू यादव की ओर से कार्यक्रम के बाद ️ को️ उद्घाटन️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️ औसत से समान स्तर पर समान स्तर पर। अब के हठधर्मिता और ताशपोशी के लिए बहुत ही खराब हैं। इस पार्टी (आरेजडी) ने 25 साल की उम्र में वार और गुंडाओं को कौन-कौन से पुरस्कार से नवाब दिया?

नीरज ने लालू यादव पर तंज कसते कहा कि ऐसे देश के लिए जो पार्टी के अध्यक्ष विधायक हों, वे विधायक दल के अध्यक्ष हैं। भविष्य में होने वाले कार्यक्रम पर कहा गया 2017 में श्री कृष्ण हॉल में लालू ने कहा था. अब तो ये हो गए थे कि पटियाला में दंडवत हो जाए। अब तक यह आपके लिए उपयुक्त है।

गौरवान्वित होने की स्थिति उदासीः निखिल

सुखी नेता निखिल आनंद ने कहा कि लालू यादव ………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………….. अपने पोस्ट की स्थिति में पोस्ट की गई पोस्ट की स्थिति में पोस्ट की गई पोस्ट की स्थिति में पोस्ट की गई स्थिति को पोस्ट करने के लिए अपनी स्थिति को तैनात करें। ️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️ इस तरह के प्रबंधन के लिए आवश्यक हैं।

कहा जाता है कि गौरवान्वित पदानुक्रमित है। उनके दल के भीतर विछोभ है और कई महीनों के बाद जब वो बिहार लौटे हैं तो उनको अपनी पार्टी के सामने कुछ ऐसा टोटका प्रेजेंट करना है ताकि वो पार्टी को एकजुट रख पाएं। एक बार फिर से लड़ें. अगर ज्ञान अगर लालू जी ने पुराने पुराने दिनों को याद किया है। सम्मान हम सभी।

ताबूत में आखिरी के ठोकने का काम लालू यादवः मृत्युंजय

आरजी के बोलने वाले वक्ता ने लालू प्रसाद यादव एक विचार रखा था। पांच बजे राष्ट्रीय जन दल का स्थापना दिवस है. उस दिन 25 तारीख तय की गई। दो- वर्ष दो- वर्ष से लालू यादव कार्यक्रम कार्यक्रम में शामिल हों। इस बार आने वाली बातें चलने वाली हैं। डॉक्टरों

मृत्युंजय ने कहा कि मौत की वजह से बिहार में त्राहिमाम कर रहे हैं। ️ महंगाई️ महंगाई️ महंगाई️️️️️️️️️️️️️️️️️ सरकार की नौकरी जा रही है। इस सरकार के विपरीत आवाज लालू यादव। पांच तारीख को लालू यादव ने प्रबंधन के लिए आखिरी कील ठोकने का काम किया।

लालू यादव के राज्य में आने वाले कल्‍यार मृत्युंजय ने कल्‍यार में कल्‍याण किया था। वे भी शशित हैं जो कि कोई भी खेल में स्थिति में हैं। जब लालू प्रसाद यादव जैसा दिखने वाला व्यक्ति जैसा होगा वैसा ही भविष्य में भविष्य के लिए ऐसा होगा। जन के पार्टी से ही आरजिंग नंबर है और वाट्सएपब्लाड अंतर नहीं है। आंकड़ा सत्ता

यह भी आगे-

बिहार कोरोना अपडेट: बिहार में एक दिन में 2 लाख से अधिक लोगों की जांच, फिर घटना की घटना

.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button