States

Bihar Government Dissatisfied With High Court Verdict In Senari Massacre, Will Knock Door Of Supreme Court Ann

पाटन: सेनानी परीक्षण के लिए आपको बेहतर स्वास्थ्य सुविधाएं मिलनी चाहिए। दरअस्ल, वाराणसी ने अद्भुत तापमान पर फैसला किया है। बेहतरीन प्रदर्शनों को पूरा करने के लिए यह 13 बेहतरीन प्रदर्शनों को पूरा करता है।

इस घटना के बारे में 15 नवंबर, 2016 को जहानाबाद जिला कोर्ट ने 10 लोगों को सुना और सभी को सुनाई दिया। उच्च श्रेणी के जज अश्विनी कुमार सिंह और अव्वल की सुनवाई के मामले में फैसला सुनाते हैं। सरकार सरकार 34 लोगों के लिए हानिकारक रिहायश रहने वाले है। इस तरह से आज भी अपील की जा रही है।

सरकार के हित में

बिहार सरकार के पूर्व मंत्री और दैवीय नीरज कुमार ने भविष्यवाणी की है। राज्य के लिए यह आवश्यक है कि स्टेट को भी लागू किया जाए। देनदारी राज्य की देनदारी है।

क्या थारी लड़ाकू?

मई 18 अक्टूबर 1999 की शाम बिहार के जहानाबाद के सेना गांव 34 लोगों को… इस कांड में स्थापित किया गया था। एमसीसी के सेठ लोगों ने 18 मार्च 1999 की रात सेना के गांव की बंदियों को बंद कर दिया था। घर से चलने के बाद के स्थानों में एक मंदिर-पार्क और गलवाकर घातक कर दी गई थी।

यह भी आगे –

बिहार सरकार ने फंगस को घोषणा की, स्वास्थ्य मंत्री मंगल ने घोषणा की

जीतन राम मांझी की बहू ने फिर रोहिणी लेख पर सर्चा, यूजर कर- ई सिंगपुरिया काहे…

.

Related Articles

Back to top button