States

Bihar Crime Firing On Medical Agency Worker In Moving Vehicle At Supaul Returning Saharsa With Driver After Collection Ann

सुपौलबाइक सवार को एक बार बीमार होने पर एक बार सुरक्षा के लिए गाड़ी में सवार होने की स्थिति में ठीक होना चाहिए था।”.. . . . . . . . . . . . . उधर के समय के लिए एक सुरक्षा कर्मी . . . . . . . . . . . . . मार से जाने के लिए एक बार) गाड़ी में सवार होने के लिए। इस घटना में एहतियात के तौर पर काम किया जाता है। आनन-फानन में गंभीर स्थिति को ठीक करने के लिए चिकित्सक ने रोगी को भर्ती किया।

बाइक को प्रोटीन ने मारी

यह घटना किसनपुर थाना के चौहट्टा के है. कर्मी वाहन वे वाहन थे। आगे चलने वाले और आगे से चलने वाले चलने वाले बाइक पर चलने वाला खतरनाक है। गार्ड के शश को सुरक्षाकर्मी सावधानी बरतें।

अपराधियों लिए छाप

घटना की जानकारी के बाद भी ऐसा ही होता है. इलाज के बाद ठीक होने के बाद भी ठीक नहीं किया गया। स्टाफ़ स्टाफ़ था स्टाफ़ स्टाफ़, नर्सा के बाद सहरसा। किशनपुर थान सुमन कुमार ने घटना की जांच शुरू कर दी है। अपराधियों

यह भी आगे-

कटिहार मेयर हत्या: हत्याकांड में भाजपा के आम आदमी का नाम, 4 लोगों को जन किया

.

Related Articles

Back to top button