Education

भारत में पहला एटीएम किस शहर में खोला गया था?

bharat mein pahla atm kis shahar mein khola gaya tha | भारत का पहला एटीएम किस शहर में खोला गया

नमस्कार दोस्तों, यदि किसी भी व्यक्ति को पैसे निकालने की जरूरत होती है, तो एटीएम उसके लिए बेस्ट विकल्प होता है। अनेक लोग तो एटीएम को एनी टाइम मनी भी कहते हैं। दोस्तों क्या आप जानते हैं कि भारत में पहला एटीएम किस शहर में खोला गया था, (bharat mein pahla atm kis shahar mein khola gaya tha) यदि आपको इसके बारे में कोई जानकारी नहीं है, तथा आप इसके बारे में जानकारी प्राप्त करना चाहते हैं, तो आज की इस पोस्ट के माध्यम से हम आपको इस विषय के बारे में संपूर्ण जानकारी देने वाले हैं।

इस पोस्ट के माध्यम से हम आपको बताने वाले हैं कि भारत में पहला एटीएम किस शहर में खोला गया था, हम आपको इस विषय से जुड़ी लगभग हर एक जानकारी इस पोस्ट के अंतर्गत शेयर करने वाले हैं। तो ऐसे में आज का की यह पोस्ट आपके लिए काफी महत्वपूर्ण होने वाली है, तो इसको अंत जरूर पढ़िए।

भारत में पहला एटीएम किस शहर में खोला गया था? (Bharat mein pahla atm kis shahar mein khola gaya tha)

दोस्तो अक्सर कई अलग-अलग कंपटीशन एग्जाम के अंतर्गत यह सवाल पूछा जाता है, कि भारत में पहला एटीएम किस शहर में खोला गया था, और बहुत लोगों को इसके बारे में जानकारी नहीं होती है। यदि आपको भी इसके बारे में जानकारी नहीं है तो आपकी जानकारी के लिए मैं बता दूं भारत में पहला एटीएम मुंबई शहर में खोला गया था। सन 1987 के अंतर्गत मुंबई शहर के अंतर्गत भारत देश का पहला एटीएम खोला गया था, तथा यह एटीएम मुंबई की एसबीआई शाखा के द्वारा शुरू किया गया था।

एटीएम क्या होता है? (atm kya hota hai)

bharat mein pahla atm kis shahar mein khola gaya tha

दोस्तों एक ही एक तरह का मशीन होता है, जिसके माध्यम से आप अपने एटीएम कार्ड का इस्तेमाल करके पैसे निकाल सकते हैं। जब भी आप बैंक के अंतर्गत अपना अकाउंट ओपन करवाते हैं तो बैंक के द्वारा आपको एक एटीएम कार्ड उपलब्ध करवाया जाता है, और उस एटीएम कार्ड की सहायता से आप भारत देश में कहीं पर भी किसी भी एटीएम के अंतर्गत उस कार्ड की सहायता से पैसे निकाल सकते हैं। आज के पूरी भारत के लगभग हर क्षेत्र के अंतर्गत एटीएम देखने को मिल जाते हैं, तो ऐसे में यदि आपको कहीं पर भी पैसों की जरूरत होती है, तो आप तुरंत एटीएम से निकाल सकते हैं।

एटीएम का फुल फॉर्म क्या होता है? (atm ka full form kya hota hai)

जैसा कि दोस्तों आप सभी लोग जानते हैं कि एटीएम के माध्यम से आप कभी भी किसी भी वक्त पैसे निकाल सकते हैं, तो ऐसे में बहुत सारे लोग इसको एनी टाइम मनी कहते हैं, तथा उनका मानना है, कि एटीएम का फुल फॉर्म ऑटोमेटेड टेलर मशीन Automated Teller Machine होता है। लेकिन आपकी जानकारी के लिए मैं बता दूं कि यह बात बिल्कुल भी सत्य नहीं है, एटीएम का फुल फॉर्म ऑटोमेटेड टेलर मशीन होता है।

एटीएम का आविष्कार किसने किया था? (atm ka aavishkaar kise na kiya hai)

अगर दोस्तों बात की जाएगी एटीएम का आविष्कार किसने किया था, तो इसकी सूची में 3 लोगों का नाम लिया जाता है, जिसके अंतर्गत जॉन शेफील्ड, डोनाल्ड वेट जेल, Do Duc Coung का नाम शामिल है।

आज आपने क्या सीखा

तो आज की इस पोस्ट के माध्यम से हमने आपको बताया कि भारत में पहला एटीएम किस शहर में खोला गया था, (bharat mein pahla atm kis shahar mein khola gaya tha), हमने आपको इस पोस्ट के अंतर्गत के विषय से जुड़ी लगभग हर एक जानकारी को देने का प्रयास किया है। इसके अलावा हमने आपके साथ इस पोस्ट के अंतर्गत अलग-अलग एटीएम से जुड़ी कुछ अन्य जानकारियां भी शेयर की है। जैसे कि एटीएम क्या होता है, एटीएम का फुल फॉर्म क्या होता है, तथा एटीएम का आविष्कार किसके द्वारा किया गया था।

आज की इस पोस्ट के माध्यम से हमने आपको इस विषय से जुड़ी लगभग हर एक जानकारी को देने का प्रयास किया है। हमें उम्मीद है कि आपको हमारे द्वारा दी गई यह इंफॉर्मेशन पसंद आई है, तथा आपको इस पोस्ट के माध्यम से कुछ नया जानने को मिला है। इस पोस्ट को सोशल मीडिया के माध्यम से आगे शेयर जरूर करें, तथा इस विषय के बारे में अपनी राय हमें नीचे कमेंट में जरूर बताएं।

FAQ

एटीएम का फुल फॉर्म क्या है?

एटीएम (एटीएम) का फुल फॉर्म: ऑटोमेटेड टेलर मशीन (ऑटोमेटेड टेलर मशीन) एटीएम (एटीएम) का मतलब ऑटोमेटेड टेलर मशीन (ऑटोमेटेड टेलर मशीन) है।

एटीएम का आविष्कार कब हुआ था?

दुनिया के पहले एटीएम का आविष्कार जॉन शेफर्ड-बैरोन और उनकी टीम ने 1967 में किया था।

एटीएम कितने साल की उम्र में बनता है?

एटीएम कार्ड किस उम्र में बनता है? कुछ बैंक 10 से 18 वर्ष की आयु के बच्चों को एटीएम कार्ड प्रदान करते हैं, लेकिन अधिकांश बैंक अठारह वर्ष से अधिक आयु के खाताधारकों को एटीएम कार्ड जारी करते हैं।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button