India

बसवराज बोम्मई ने संभाली कर्नाटक की कमान, विधानसभा के मौजूदा कार्यकाल में चौथे सीएम बने

<पी शैली ="टेक्स्ट-एलाइन: जस्टिफाई;">बेंगलुरू: कर्नाटक में आज से बसवराज सरकार की शुरुआत हो रही है। बसवराज बोम्मई ने पद के शपथ ली है। बोम्मई उपराज्यपाल थवर गहलोत ने पद और शपथ की रक्षा की। वे राज्य के 23वें राज्य बन गए हैं। येदियुरप्पा सरकार में बैठने के लिए और जैसे टाइप के लेख लेखलेख करते हैं।

न बसवराज बोम्मई को येदियुरप्पा का अहम् चहेता है। सदस्य दल की बैठक में येदियुरप्पा ने ही बोम्मई के नाम का प्रस्ताव -. बोम्मई को जनता दल से असली में येदियुरप्पा ही दिमागी हैं. पेनिस आने वाले समय में आने वाले समय में कर्नाटक के हैं।

आज बाजवाराज की बैठक, कोरोना–
शपथ से लड़ने से पहले। उन्होंने कहा कि बैठक की बैठक की। उसके बाद, मैं राज्य में COVID-19 और तूफान की स्थिति की समीक्षा करने के लिए वृद्धों के साथ बैठक कर रहा हूं। ग्रहण ग्रहण भगवान भगवान भगवान पहली पंक्ति से पहले, श्री मारुथि मंदिर में दर्शनशास्त्र।

येदियुरप्पा के केबहद है है बसवरज बोम्मई
बोम्मई की छवि शुद्धि। साथ ही येदियुरप्पा के भी हैं। इस मौसम में येदियुरप्पा को नाराज़ होने के कारण ऐसा लगता है कि ये येदियुरप्पा के लोग हैं। येदियुरप्पा का मास्टरक कह सकते हैं क्योंकि बोम्मई येदियुरप्पा का मोहरा हैं. 

बोम्मईईत के चेहरे पर लिंगायत खराब होने के साथ-साथ खराब होने के कारण राज्य में 19% भी खराब हो रहे हैं। येदियुरप्पा के लिंगायत हैं। इस तरह की चुनौती को चुनौती दी गई थी। 

जेल से संपर्क करने पर भी, वे भी राष्ट्रपति हैं  2008 में सदस्य थे। उनके मंगल को बीएस येदियुरप्पा के बाद के आने वाले कल के कर्नाटक के कर्मचारी अरुण सिंह और ऑबजर्वरचुने धर्म प्रधान और किशन वाइट बैटर ने। बैठक के बाद बैठक हुई। 

ये:

यूपी में बारबकी में बार-बार नींद आना, 19 की मौत, 24 से अधिक गंभीर रूप से अस्त होना

गोर्कापुर: प्रबंधक की पीढ़ी और डेडेड के जैसे की फावड से निरमम घातक, पत्नी और बेटी भी अस्ताना

.

Related Articles

Back to top button