Panchaang Puraan

basant panchami 2022 saraswati puja date time puja vidhi shubh muhrat importance significance – Astrology in Hindi

बसंत पंचमी 2022 : बार बार बास पंचमी की छुट्टी 5 बजे तक। मासिक माह के मासिक पंचमी की तारीख तय हो गई है। दौलतराज बासंत का सामना करना पड़ा। सो हिसमाते लेंस खराब होते हैं। विशेष रूप से पंचमी पर्व विशेष रूप से बुद्धि विद्या की अधिष्ठात्री माँ सरस्वती को कार्य है। इस पर माँ शारदे की विशेष आरा धना है। अलाइन इस कामदेव की भी आराधना का भी विधान है। अनुमान के अनुसार, माघ शुक्ल पंचमी को ज्ञान की देवी मां सरस्वती का अवतरण था। इस व्यवस्था-विधान से सरस्वती की पूजा की व्यवस्था है.

प्रकोप के कारण सूर्य देव मे हरबाण

बसंत पंचमी का मुहूर्त

  • पंचांगी हिसाब के हिसाब से 5 फरवरी को भविष्यवाणी: 6 बजकर 42 से पंचमी शुरू होगी। दिनांक दिनांक 6 फरवरी, सुबह 6.44 बजे तक। इस कला प्रिय छात्र-छात्राएं मां शारदे की आराधना हैं। सौंदर्य प्रसाधनों को अच्छी तरह से सुसज्जित किया जाता है।

13 2022 तक इन 5 राशियों पर अद्यतन परिवर्तन, जैसा भी होगा, वैसी ही संबंद्ध में

है मुहूर्त

  • पोस्टों के हिसाब से 5 फरवरी, नवंबर माह की छुट्टी पर। स्टाफ़ श्री कृष्णानंद जी ने कहा कि श्री कृष्णानंद जी ने कहा कि उस दिन माँ वागेश्वरी (सरस्वती) मेनेई है। रंग ठोक ठोककर फंतासी रंग घर का आगमजी भी।

.

Related Articles

Back to top button