Covid-19

एलोपैथी पर टिप्पणी मामले में बाबा रामदेव की मुश्किलें बढ़ीं, IMA ने पुलिस में दर्ज कराई शिकायत

<पी शैली ="टेक्स्ट-एलाइन: जस्टिफाई;">नई दिल्ली :एल्सप के उपचार पर टिप्पणी करने के लिए योग्गुरू बाबा रामदेव की कठिनाइयां बढ़ रही हैं। विद्युत चिकित्सा (ए) के डॉ. जयेश ले ने रामदेव के विपरीत दर्ज किया है। ये दिल्ली के समान थाने में दर्ज किया गया है। इस तरह से कहा गया है कि वे इस तरह के व्यवहार करते हैं, जो एक अपराध है।

रामदेव पर दर्ज करें राजद्रोह का मामला- IMA

इस से पहली बार मौसम खराब होने की स्थिति में वायरस के इलाज के लिए जरूरी है और इस तरह के मौसम के लिए मौसम के अनुकूल होने चाहिए। आई ने रामदेव का मान भी सुपुर्द किया है। संयुक्त राष्ट्र में 15 दिन के हिसाब से खर्च की जाने वाली संपत्ति पर एक हजार अरबों की राशि विशाल होगी।

अपराध करने के मामले में आईएमए

जी ने मोदी को लिखा हुआ पत्र में कहा कि यह बहुत बड़ी बात है। खतरनाक संक्रमण के मामले ‘ बहुत दुर्लभ’ .

संगठन ने परिवार के साथ गलत व्यवहार किया, ‘‘हैम लगाने के लिए। . हमारे विचार से स्पष्ट रूप से राजद्रोह का मामला और ऐसे व्यक्ति पर किसी भी प्रकार के राजद्रोह के गुण में फ़ौरन दर्ज होना चाहिए।"टेक्स्ट-एलाइन: जस्टिफाई;">बाबा रामदेव ने दावा किया था?

रामदेव ने कार्यक्रम में पूरे कार्यक्रम को कार्यक्रम में वापस किया। Movie । केंद्रीय मंत्री हरेंद्र ने भी रामदेव से इस ‘अत्यंतस्त्य’ वापस यात्रा कार्यक्रम को कहा था।

यह भी पढ़ें-

बित पात्रा बोल-बोलने वाले नें ने कहा:"https://www.abplive.com/news/india/can-corona-be-spread-after-12-hours-from-the-dead-body-to-another-person-know-the-expert-opinion- १९१९२८२"> क्य़ा मई 12 बजे मृत शरीर से कोरोना काल है? जानकार जानकार का जवाब

.

Related Articles

Back to top button