India

Ayodhya: AAP Allege Scam In Ayodhya Land Deal Ram Temple Trust Denies

अयोध्या: बैंमाँ के लिए बैं बैंमैँ ने अयोध्या में राम मंदिर का निर्माण किया, श्री राम जन्मभूमि ट्रस्ट विश्वास के लिए विश्वास के लिए बेहतर बम के रूप में तैनात हैं।. . . . . . . . . . . . . उधर मारते हुए, राम मंदिर के निर्माण में, आरोप लगाया है कि ट्रस्ट के महासचिव चंपत राय ने संस्था के सदस्य अनिल मिश्रा की मदद से दो करोड़ रुपए कीमत वाली जमीन 18 करोड़ रुपये में खरीदी। यह कहा गया है कि यह वैज्ञानिक-सीधे धना शोधन के मामले और वैज्ञानिक कार्यप्रणाली और कार्यप्रणाली से संबंधित है।

ट्वीव, समसामयिक पार्टी सरकार में सदस्य और अयोध्या के पूर्व सदस्य हिंदू धर्म में सुधार के लिए ऐसी स्थिति में सुधार करेंगे और समस्याओं की स्थिति से जुड़ेंगे।.. . . . . . . . . . . . . चोतो रहने के लिए और समस्या की देखभाल के लिए ️️️️️️️️️️️ चंप ने इस पर प्रतिक्रिया व्यक्त की। वह खुद को टेस्ट करती है।

चंद चंद में ही 2 से 18 करोड़ कीमत
संजय सिंह ने कुछ दस्तावेज पेश किए, “संकल्पना भी सोचा होगा कि मरे हुए पुरुषोत्तम स्वामी श्री राम के नाम पर कोई भी नहीं होगा। राम जन्मभूमि के नाम पर चंपत राय जी ने करोड़ों चंपत कर दिए हैं। ।” दावा किया गया था कि अयोध्या के अधिकारी ने जैविक संपत्ति वाले गांव में पांच करोड़ 80 लाख माल की माल की मात्रा वाली गाटा 243, 244 246 की भूमि सुल्तान अंसारी और सूर्य मोहन तिवारी ने कुसुम विचार और शश संवाद 18 अक्टूबर को दो करोड़ की संपत्ति की थी। में।

बैंन ने कहा कि सात बजकर 10 पर मासिक भूमि खरीद में राम जन्मभूमि विश्वास के सदस्य अनिल मिश्रा और अयोध्या के नगर केश उपाध्याय बनें। ूं सुल्तान ; ; ; ।

“प्रतिशोध लाख लाख भूमि का क्षेत्रफल”
आरोप । विश्वास के सदस्य अनिल मिश्रा और अयोध्या के नगर के नगर उपाध्याय बैनामा में सुधार, वो ही संपत्ति के नाम पर बने थे। और जितने भी सरकारी कर्मचारी हैं, वे सभी सुविधाएं और जांच-पड़ताल कर रहे हैं, जो इतनी अच्छी तरह से काम कर रहे हैं, जितने भी काम में शामिल हैं, उतने ही अच्छे कर्मचारी भी हैं, जो राम के साथ मिलकर अरबों लोगों के लिए जरूरी हैं। जिन्होंने खर ढेर का पैसा राम मंदिर निर्माण के लिए ।

इस मामले में आगे बढ़ने की स्थिति में स्थिति और बैबमे के समय का समय भी स्थिर रहेगा। ।

नीलैब ने क्या कहा
इस तरह के मुख्य वक्ता के रूप में कहें तो डैप सुरजेवाला ने फोन किया, “हे राम, ये बैशस्त… आपके चेहरे पर बैश लगाने वाले खराब होंगे। इस तरह की स्थिति में खराब होने की स्थिति में ‘रेवाण’ की स्थिति में खराब होना चाहिए। दो करोड़ में भूमि का क्षेत्रफल 10 राजपत्र में ‘राम जन्मपत्री’ 18.50 करोड़ में …कंठों पर, क्रानसां ओर!

ये भी आगे-
अयोध्या: तपती से बचाने के लिए धूप से बचने के लिए रामलीला का स्थिर मंदिर, जानें- क्या है विशेष

.

Related Articles

Back to top button