Breaking News

Apple move from China to India One out of every four iPhones will be Made in India by 2025 – Tech news hindi

ऐप पर पढ़ें

चाइना की ढुलमुल कोविड पॉलिसी और भारत में बिजनेस के लिए बने बेहतर माहौल को देखते हुए भारत में ज्यादा से ज्यादा मैन्युफैक्चरिंग की योजना पर काम कर रही है। यह एक और कारण से प्रीमियम स्मार्टफोन iPhone 14 pro की आपूर्ति श्रृंखला में भारी कमी को बताया जा रहा है। वॉल स्ट्रीट जर्नल के अनुसार कंपनी फॉक्सकॉन के नेतृत्व में ताईवान के प्रबंधकों ने रिकॉर्ड कम करने के लिए भारत और वियतनाम में आपूर्तिकर्ताओं को अधिक सक्रिय रहने के लिए कह रहा है। आइए जानते हैं कंपनी के ऐसा करने के पीछे क्या कारण है।

यह भी पढ़ें- ₹10,000 से कम कीमत में 5,000mAh बैटरी और 8GB रैम वाला फोन, आ रहा है Samsung Galaxy M04

इंडिया से 45 पर्सेंट शिपमेंट की योजना अटपटी रही
मशहूर एनालिस्ट मिंग ची कूओ के बारे में जानकर हैरान भारत से 40 से 45 पर्सेंट कई लोगों के भेजे की योजना पर काम कर रहे हैं। इस साल की चौथी तिमाही में सिर्फ 70 से 75 मिलियन यूनिट आईफोन का शिपमेंट हुआ है। जो चाइना में हुए इस कार्यकारी-पुथल से पहले के मार्केट प्रोजेक्शन से 10 मिलियन यूनिट कम है। इस वजह से कंपनी के iPhone 14 pro और iPhone 14 pro Max मॉडल की सप्लाई चेन को काफी नुकसान पहुंचता है। दूसरी ओर जेपी मॉर्गन के अनुसार वर्ष 2025 तक हर चार में से एक कम मेड इन इंडिया होगा।

यह भी पढ़ें-फ्लिपकार्ट की शानदार डील जारी! iPhone 12 को खरीदने पर ₹21000 से अधिक की बचत हो सकती है

iPhone का इंडिया में इंपोर्ट कंपोनेंट 15 पर्सेंट हुआ
मार्केग्ला फर्म्स, साइबर मीडिया रिसर्च (CMR) के मुताबिक साल 2022 में iPhone का इंडिया में इंपोर्ट कंपोनेंट 15 परसेंट हो गया, जो साल 2019 में 50 परसेंट था। जबकि iPhone के डोमेस्टिक मैन्युफैक्चरिंग में 85 परसेंट का मामला सामने आया है। इसके अलावा भारत में iPhone का प्रोडक्शन साल 2021 में 7 मिलियन था जो साल 2022 में बढ़कर 12 से 13 मिलियन हो गया। वहीं साल 2019 में डोमेस्टिक का मैन्युफैक्चरिंग इंडिया में कंट्रीब्यूशन 50 परसेंट था जो साल 2021 में 73 पर्सेंट हो गया।

Related Articles

Back to top button