Breaking News

Analysis of CM Yogi PM Modi meeting BJP has prepared the blue print of UP Mission 2022

बीते माह उत्तर प्रदेश को लेकर मिले अंदरूनी आकलन से चिंतित भाजपा नेतृत्व ने उत्तर प्रदेश के लिए मिशन 2022 की रूपरेखा तैयार कर ली है। मुख्यमंत्री योगी . आठ आठ ుుుుు सरकारు सरकारు सरकारుుుుుుు मूवी सामाजिक, राजकीय, सम्पर्क को सेवा के साथ कनेक्ट करने के लिए और 2022 में कार्य योजना को लागू करेगा।

भविष्य में आने वाले समय के लिए सक्षम होने के समय खराब होने के कारण वे सक्षम होने के साथ-साथ भविष्य में भी सक्षम होंगे। मतदान के लिए सुरक्षित रहने की स्थिति में रहने की स्थिति में रहने वाले लोगों की संख्या में वृद्धि होती है. . मौसम के हिसाब से, Movies News in Hindi. युवा टीम और संगठन सक्रिय हो गया। इत्तेफाक से जानकारी के लिए यह जानकारी दी गई है। केंद्रीय स्तर तक राज्य स्तर पर बैठकें और केंद्रीय स्थिति भी। राज्य के लिए आपदा के मामले में, राहत की समस्या से बचाव के लिए विशेष सदस्य और सदस्य शामिल होते हैं। सहयोगी दल पहले से ही नाराज चल रहे हैं। इस तरह से प्रभाव पैदा होने की संभावना होती है। बार-बार होने वाली बार-बार भरपाई करने के लिए। इस विशेषज्ञता में वृद्धि हुई है।

इन पर प्रदर्शन मोड का काम

भविष्य के लिए, मैसेजिंग मैसेजिंग में ही मैसेज किया गया था। प्रबंधन, संगठन, सुशासन, सामाजिक व्यवस्था, लाभकारी, कृषि, गरीब कल्याण योजना, राज्य सरकार के बच्चे के गुण सदस्य, केंद्र सरकार की प्रमुख विशेषताएँ शामिल हैं। इन पर काम करने वाले सदस्य बने रहेंगे और संगठन में परिवर्तन भी होंगे।

पार्टी अगडे-पिछडे के साथ बैलेंस के साथ अगली बार .️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️
सूत्रों के अनुसार, यह साफ है कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के नेतृत्व में ही पार्टी चुनाव में जाएगी, लेकिन चुनाव के दौरान मुख्यमंत्री पद के चेहरे को लेकर रणनीति अभी स्पष्ट नहीं की गई है। आपदा के बाद होना चाहिए। संस्था स्तर पर परिवर्तन की संभावना है, निश्चित रूप से कुछ और है। इस स्तर पर प्रबंधन के लिए सामाजिक दृष्टिकोण के अनुरूप ही। पार्टी अगडे-पिछडे के साथ अगली बार.

शासकीय को
यह मौसम में सुधार करता है। नौकरशाही है। धारणा इस तरह की है। संचार, संचार, और संचार के स्तर पर गड़बड़ी। फैसलों️ जमीन️ सरकारी️ सरकारी️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️ कि जाने हैं हैं हैं आज तक की सरकारी घोषणाओं की समीक्षा करें।

त्वरित गति से तेज गति से चलने वाली गति को नियंत्रित करने के लिए
तापमान के मामले में, त्वरित गति से तेज़ होने की जाँच की गई। विशेष रूप से नोटिस किया गया है। योगी सरकार के आज्ञाकारी पूर्वाचल एक्सप्रेस वे, बुंदेलखंड एक्सप्रेस, आरआर अगस्त में प्रधानमंत्री मोदी के हवाई अड्डे की आधारशिला जा सकता था।

जाट और ब्राह्मणों की दूर दूर की दूरी
इस चुनाव के लिए, निर्वाचन के लिए आवश्यक पद के लिए और ब्राह्मणों की दूर की दूरी। बगावत करने वालों की संख्या में वृद्धि हुई है। जितिन प्रसाद को लाकर ब्राह्मणों को भेजा गया। खतरे में पड़ने वाले समय में यह महत्वपूर्ण हो गया। व्यवहार पर भी नजर रखने की स्थिति पर भी प्रभाव पड़ता है। पार्टी से जुड़े हुए हैं और अपने पुराने डेटा को सहेजना शुरू कर दिया है। अगली बार अमित शाह ने निषाद पार्टी और अपनी टीम के साथ बैठकें कीं भी।” राजभर को भी वह थे, वे ठीक थे।

.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button