Breaking News

akhilesh yadav shivpal singh yadav prepared kavach for dimple yadav mainpuri by election 2022

ऐप पर पढ़ें

मैनपुरी उपचुनाव 2022: एसपी संस्‍थापक झिझक सिंह यादव के निधन से खाली हुई मैनपुरी की सातवीं सीट पर पार्टी उमीदवार के तौर पर उतरीं डिंपल यादव के लिए अखिलेश यादव ने अंकल शिवपाल संग मजबूत कवच तैयार कर दिया है। आदित्य बीजेपी बूथों पर पूरा जोर लगा रहा है। मैनपुरी में सहानुभूति और यादव परिवार की ताकतों के आगे मोदी-योगी सरकार के रोजगार और उपलब्धियां को बड़े मुद्दों के तौर पर जनता के सामने रखा जा रहा है। इससे सतर्क अखिलेश यादव और उनके अंकल शिवपाल यादव ने यूनिटी सभाओं का चिचिल्ड तेज कर दिया है। रामगोपाल यादव, धर्मेन्‍द्र यादव, तेज प्रताप यादव और यादव परिवार के सारे दिग्‍गज गढ़ को बचाने के लिए मोर्चे पर डट गए। मैनपुरी की लड़ाई अब दिलचस्प मोड़ पर पहुंच चुकी है। हर किसी के जेहन में अब बस एक ही सवाल उठ रहा है कि यूपी विधानसभा चुनाव 2022 के बाद हर उपचुनाव में हार का सामना कर रही स्पा के रथ पर सवार डिंपल क्या मैनपुरी में घिरे परिवार की विरासत बचाएंगे?

रविवार को सैफई के बाद सोमवार को अखिलेश यादव ने जसवंतनगर में पहली बार कार्यकर्ता कॉन्फ्रेंस कर वोट मांगे। मंच पर मौजूद भावुक शिवपाल ने कहा, बहू डिंपल को हमसे भी ज्यादा वोटों से जिताएं। बोले हैं कि शपथ सिंह ने जसवंतनगर सीट शिवपाल को सौंपने के बाद यहां कभी सार्वजनिक सभा की नहीं। अखिलेश भी कभी किसी सभा में नहीं गए। मैनपुरी विधानसभा क्षेत्र में जसवंतनगर विधानसभा सीट का अहम रोल है। सैफई की तरह सोमवार को जसवंतनगर में सपा के कार्यकर्ता सम्मेलन में सैफई परिवार यूनाइटी शो का आयोजन किया गया। सम्मेलन में ही सभीश ने शिवपाल के पैर छूकर आशीर्वाद लिया तो शिवपाल ने अपने स्वागत भाषण में अखिलेश को बहुत सम्मान दिया। शिवपाल ने कहा जनता की मंशा थी कि हम सब एक रहें। अब हम एक हैं, इसलिए सभी की जिम्मेदारी है कि डिंपल रिकॉर्ड जीतेंगे। हमसे भी ज्यादा वोटों से जिताएं, यही नेताजी की सच्ची श्रद्धांजलि होगी।

बीजेपी प्रत्याशी रघुराज्‍य शाक्‍य को शिवपाल का जवाब
शिवपाल ने बीजेपी सहयोगी रघुराज शाक्य को अवसरवादी करार दिया। उन्होंने कहा कि प्रचार किया जा रहा है भाजपा सहयोगी मेरा शिष्य है। वह शिष्य तो दूर की बात चेला भी नहीं रहा। वह अतिवादी है। नेताजी के बहुत सपने थे। उन सपनों को मैनपुरी 2019 में हम और डिंपल मिल कर पूरा करेंगे। नेताजी के सपने को पूरा करने के लिए अखिलेश यादव का सहयोग लेंगे। बीजेपी के बेईमानों ने भाई से भाई का काम किया है। देश शेयर कर रहे हैं। बिना रिश्वत के कोई काम नहीं हो रहा है।

अखिलेश-बीजेपी हमारे परिवार से बहुत बड़ी परेशानी है
सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने कहा कि बीजेपी को हमारे परिवार को लेकर बहुत परेशानी है। हम दूर हो जाएं तो दुष्प्रचार करते हैं कि परिवार में साम हैं। हम साथ रहते हैं तो कहते हैं परिवारवादी हैं। बीजेपी की बीमारी का इलाज नहीं है। इस बीमारी का एक ही इलाज है, वोट डाल कर बीजेपी को रिकॉर्ड मतों से हराएं।

Related Articles

Back to top button