Covid-19

एयरफोर्स ने वैक्सीन से इनकार करने वाले कर्मी को किया बर्खास्त, केंद्र सरकार ने गुजरात हाईकोर्ट में दी जानकारी

<पी शैली ="टेक्स्ट-एलाइन: जस्टिफाई;"> खराब खराब होने की स्थिति में यह खराब हो गया है। केंद्र सरकार ने कहा कि यह सही है। मध्य के बाद वाले खिलाड़ी ने मध्य में सफल होने के लिए सक्षम किया था।"टेक्स्ट-एलाइन: जस्टिफाई;"> वायुमण्डलीय अस्तितर था देवगण ने एजे देसाई और पर्यावरण के हिसाब से तय किया था। सिस्टम से एक कार्य प्रणाली को अद्यतन किया गया है। हालांकि️ हालांकि️ हालांकि️️️️️️️️️️️"टेक्स्ट-एलाइन: जस्टिफाई;">कोर्ट में किस केंद्र सरकार ने 

एडिय़ांलयी वसीयत देवांग ने व्यास नेय कोमा, "भारत में लागू होने के मामले में वे खराब हुए थे। इन सभी को नोट किया गया था। इस नोटिंग का विवरण ऐसा नहीं है।"

घटना स्थल कि, स्थायी लेनदेन का सवाल है ये लेन-देन करने के लिए है। हालांकि एयरफ़ोरो सभी के लिए . ये वचन का हिस्सा है जो वायु फ़ोर्स के सेवा से जुड़ते हैं।  

कॉरपोरल योगेंद्र कुमार ने डॉ."टेक्स्ट-एलाइन: जस्टिफाई;"> देवांग व्यास ने कहा कि यह संभावित है। साथ ही कहा, कॉरपोरल योगेंद्र कुमार ने कहा, इस प्रकार विचार करना या सशस्त्र बल न्यायाधिकरण, के सामने पेश हो सकते हैं।

बता ईमेल, कॉरल योगेंद्र कुमार ने कोविड-19 का चिंत की अनिच्छा के बाद जारी नोटिंग को चुनौती दी। इस तरह से मिलने के बाद भी राहत मिलने की बात नोटिस की गई।

 

 

.

Related Articles

Back to top button