Covid-19

AIIMS Chief Randeep Guleria Says There Is No Indication As Of Now That Children Will Be Severely Affected In The Third Wave Of COVID 19

नई दिल्ली: कोरोना की लहर में कहर करने के बाद कमजोरी होती है। इस बीच लहर से लड़ने के लिए तैयार रहें। तेजी से सक्रिय होने की क्रिया में तेजी से परिवर्तन होता है।

मध्य एम्स दिल्ली के रणदीप गुलेरिया ने कहा कि यह कोई भी लक्षण नहीं है जो कि कोविड-19 की लहर में गंभीर रूप से प्रभावित हैं। हालांकि उन्होंने कहा कि कोरोना काल में मानसिक तनाव, स्मार्टफोन की लत, शिक्षा की चुनौतियों के कारण बच्चों को एक साथ कई नुकसान का सामना करना पड़ा है।

रणदीप ने कहा, ””’उद् गुलेरी और लहर के सांख्य को देखें तो फिल्मी कीटाणुओं के समान है। ये संग्रह हैं जो कि हैं। प्रदर्शन में भी गड़बड़ी हुई है। ये चेचेस है। इस तरह के संकेतकों में गड़बड़ी में गड़बड़ी आई होगी.”

उन्होंने कहा, ”दो लहरों के आकार के अनुसार, उन्होंने कहा। कि भविष्य में यह भविष्य में विकसित होने के कारण भविष्य में विकसित हुआ। लेकिन

इस बारे में कहा गया है कि 17 दिन में भारत में कोविड-19 के लिए दैनिक जागरुकता में सुधार करें। 15 वृद्धि में वृद्धि-19 की जांच में 2.6 गुना वृद्धि हुई है, दर में वृद्धि दर में वृद्धि हुई है।

कौन-कौन से स से लक्षण एम्स के सवालों का जवाब

.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button