India

यूपी-एमपी के बाद गुजरात में लागू हुआ लव-जिहाद कानून, दोषी होने पर 7 साल तक की सजा, जुर्माना भी

<पी शैली ="टेक्स्ट-एलाइन: जस्टिफाई;">यूपी और मध्य प्रदेश सरकार ने भी लव जिहाद कानून व्यवस्था की है. 1 को ऐप गवर्नर ने गुर्जर धर्म की स्वतंत्रता (संशोधन) को रद्द कर दिया, 2021को से कर रहा था। बाद में 15 नवंबर से लागू किया गया।

जबरन धर्मप्रधान के बाद सख्त सजा

इस कानून में जब दंड लागू होता है तो सजा दी जाती है। सफल होने के बाद आपके धर्मांतरण के बाद 4 से 7 साल की इनामी उत्तराधिकारी प्राप्त होगा। राज्यपाल के उप नियंत्रक देवव्रत ने रविवार को इस कार्यक्रम को रद्द कर दिया था। इस प्रकार शामिल होने के लिए यह समूह बनाया गया है। कानून के प्रावधानों में लोगों के लिए भी व्यवस्थाएं हैं जो कि धर्मावर्तन में लिप्त होंगी।

पर्यावरण हीं

तीन क्षेत्रों में लागू किया गया था। यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ इस समस्या को निर्वाचन में विषय बना रहे हैं। योगी ने सबसे पहले मध्य प्रदेश के शिवराज सिंह चौहान के राज्य में राज्य मंत्री लव जिहाद कानून लागू किया था।

कंसोल के मुख्य नियम इस प्रकार हैं

  • सिर्फ धर्मग्रन्थ के लिए कीटाणुओं का समाधान पर्यावरण में पर्यावरण के साथ
  • किसी को भी या फिर से तैयार होने की स्थिति में या धोखा देने वाले धर्मप्रचार की नहीं होगी। पर्यावरण धर्म पर लागू होने के साथ ही ऐसा व्यवहार होगा।
  • अपराध में परिवर्तन, अपराध में मदद करने के लिए ऐसा व्यवहार होगा।
  • सजा के दोष दोष होने पर 3 से 5 तक की सजा का प्रावधान और कम से कम 2 लाख फ़ीफ़ा का है। बैट या जैसी- एसटी क्लास की गर्ल पर सजा 7 साल की और 3 लाख होगी।

में अनुवाद किए गए कि अपडेट किए गए पुराने अपडेट अपडेट होंगे और अद्यतन अपडेट होंगे जैसे कि अधिकारी से संबंधित अधिकारी। इस तरह की स्थिति में भी यह स्थिति बनी रहेगी। यह स्थिति ऐसी है कि यह कानून की स्थिति के अनुरूप है और यह स्थिति ऐसी स्थिति में भी बदल जाती है जब यह नियमानुसार लागू होता है। ।

ये भी पढ़ें

पंजाब सीएम के खिलाफ़ यौन अपराध के दौरान यौन अपराध के दौरान पुलिस ने शुरू किया

तमिलनाडू: इंग्लैंड के कीटाणुओं से एक और की हत्या, तीन की खतरनाक

 

.

Related Articles

Back to top button